फ़िल्मी कहानियों और किताबों से शाही परिवारों के बारे में बहुत कुछ जाना-समझा है. राजपरिवार की ज़िंदगी शान-ओ-शौक़त और सुकून से भरी होती है. शाही लोग एक हुक़ूम देते हैं और हर चीज़ उनकी आंखों के सामने होती है. पर आज के वक़्त में एक शाही परिवार ऐसा भी है जो रेस्टोरेंट चला कर गुज़र बसर करता आ रहा है. आपको सुनने में भले ये बातें अजीब लगें, लेकिन सच यही है.

टवोलारा
Source: googleusercontent

मछली बेचने वाला राजपरिवार  

दरअसल, इटली (Italy) के पास बसे सीलैंड से भी छोटा एक द्वीप है. इस द्वीप को किंगडम ऑफ़ टवोलारा (Kingdom of Tavolara) कहा जाता है. जानकारी के मुताबिक, इस द्वीप पर सिर्फ़ 11 लोग निवास करते हैं. कमाल की बात ये है कि यहां एक राजा भी है. Antonio Bertoleoni नामक ये राजा द्वीप पर बने इकलौते रेस्टोरेंट के मालिक हैं.  

ये भी पढ़ें: शाही परिवार के इन लोगों की शान और शौकत का कोई मुकाबला नहीं था 

राजपरिवार
Source: jagranimages

दिलचस्प है कहानी 

द्वीप की कहानी 1807 से शुरू हुई थी, जिसके राजा Antonio हैं. Antonio, टोनियो के नाम से भी मशहूर हैं. कहते हैं कि टोनियो के दादा के दादा यानि Giuseppe Bertoleoni इटली से निकल कर द्वीप पर आ बसे थे. उस वक़्त द्वीप एकदम सूना पड़ा हुआ था और यहां सुनहरे दांतों वाली बकरियों का बसेरा हुआ करता था. इस दौरान लोग बकरियों का शिकार करने आने लगे. Giuseppe के बेटे पाओलो शिकार करने में लोगों की मदद करते थे. साथ ही वो उन्हें ख़ुद को द्वीप का राजा भी बताने लगे.

Antonio
Source: bbci

बस यहीं से टवोलारा बादशाहत के लिये मशहूर होने लगा और धीरे-धीरे द्वीप पर 33 लोगों का निवास हो गया. इसके साथ ही पाओलो उनके राजा बन गये.

ये भी पढ़ें: सिंधिया परिवार एक ऐसा राजघराना है, जिसने मुग़लों के शासन से लेकर 1857 का बगावत काल भी देखा है 

क्रब पर लगा हुआ है मुकुट

पाओलो को राजा की तरह मुकुट पहनने का शौक़ था, लेकिन वो जीते-जी कभी मुकुट नहीं पहन पाये. इसलिये उनके मरने के बाद उनकी क्रब पर मुकुट पहनाया गया. द्वीप पर एक रेस्टोरेंट भी है, जिसे एंटोनियो उनके शाही परिवार के साथ मिल कर चलाते हैं. द्वीप पर बसने वाला ये शाही परिवार इटली का नागरिक है. पर आधिकारिक तौर पर इटली इस द्वीप को अपना हिस्सा नहीं मानता.

पाओलो
Source: jagranimages

ये दुनिया सच में काफ़ी रोचक है और दुनिया में बसने वाले लोग उससे ज़्यादा.