दिल्ली की लाइफ़लाइन कही जाने वाली मेट्रो बीते सोमवार से पिंक लाइन में लाजपत नगर से मयूर विहार पॉकेट-1 के लिए खुल गई. इस 9.7 किमी के फेज़ के खुलने से ईस्ट-साउथ दिल्ली वालों को काफ़ी फ़ायदा होगा.

इंटरस्टिंग बात ये है कि इस नई मेट्रो लाइन में एक स्टेशन है आश्रम मेट्रो स्टेशन. जो कि दुनिया का सबसे छोटा मेट्रो स्टेशन बन गया है. इस मेट्रो स्टेशन की लंबाई सिर्फ़ 151.6 मीटर है. जबकि सभी मेट्रो स्टेशन की एवरेज लंबाई 265 मीटर या उससे ज़्यादा होती है.

Source: Times Now

ये मेट्रो स्टेशन पिंक लाइन के सभी मेट्रो स्टेशन की तरह काफ़ी सुंदर बनाया गया है. इस मेट्रो स्टेशन की थीम 'मां और उसका बच्चा' है. जिसे मेट्रो वालों ने काफ़ी ख़ूबसूरती से पोट्रे किया है.

इस मेट्रो स्टेशन को बनाने के लिए डीएमआरसी ने ज़मीन की काफ़ी जंग लड़ी है. मेट्रो के सीनियर अधिकारी ने कहा कि उन्हें ज़मीन मिलने में काफ़ी दिक्कत आ रही थी. वहां किसी की प्राइवेट प्रॉपर्टी है जिसे वो मेट्रो के लिए इस्तेमाल नहीं कर पा रहे थे. ऐसे में 2 साल कोर्ट केस के लिए जाना और पिंक लाइन के लेट होने से हमने ये सॉल्युशन निकाला कि मेट्रो स्टेशन को छोटा बना देते हैं. इसलिए ये मेट्रो स्टेशन बाकी सभी मेट्रो स्टेशन के मुकाबले काफ़ी छोटा है.

Source: Hindustan Times

उन्होंने कहा कि ये मेट्रो स्टेशन दुनिया के लिए एक फ़ेमस मॉडल की तरह काम करेगा. इससे पहले भीकाजी गामा दिल्ली का सबसे छोटा मेट्रो स्टेशन था. जिसकी लंबाई 225.5 मीटर थी.

इस मेट्रो स्टेशन के 3 एग्ज़िट गेट बनाए गए हैं. जिसमें एक रास्ता NAFED, दूसरा रास्ता मथुरा रोड का फ़ायर स्टेशन और तीसरा रास्ता CSIR अपार्टमेंट के लिए निकलेगा.

Feature Image: BCCL