जब किस्मत के दरवाज़े बंद होते हैं और मेहनत के फल मीठे नहीं मिलते, तब पिटारा खुलता है अंधविश्वास का. आस्था जब ज़रूरत से ज़्यादा होने लगती है तो पता ही नहीं चलता, कहां से अंधविश्वास के शुरुआत हो गई. किस्मत को जादू और पूजा से ठीक करने के लिए कई बाबा और तां​त्रिक बाज़ार में बैठे मिल जाएंगे. बेंगलुरु के ऐसे ही एक पंडित का हाल ही में पर्दाफ़ाश हुआ है और अब वो पुलिस की गिरफ़्त में है.

Federation of Indian Rationalist Associations के अध्यक्ष प्रोफ़ेसर नरेंद्र नायक ने स्टिंग आॅप्रेशन कर के ज्योतिषी रामकृष्ण शर्मा का पर्दाफ़ाश किया है. इस ज्योतिषी की अधिक्तर क्लाइंट महिलाएं हैं. पर्दाफ़ाश होने पर पता चला कि ये महिलाओं से अश्लील काम करने को कहता था और दावा करता था कि उससे उनकी परेशानियां कटेंगी.

24 साल की रीना (बदला हुआ नाम)​ जिसके माता-पिता अलग हो चुके हैं और उसके पास कोई अच्छी नौकरी भी नहीं है, इस पं​डित के चुंगल में आ फंसी. रीना की ज़िन्दगी में काफ़ी परेशानी थी, जिसकी वजह से उसने इस ज्योतिषी का रुख किया. रामकृष्ण का पता उसे टीवी विज्ञापन से चला.

Bangalore Mirror से रीना ने बताया कि-

चूंकि कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा था ज़िन्दगी में, इसलिए मैंने अपनी किस्मत आज़माने की सोची. पंडित ने बताया​ कि एक पूजा से उसकी सारी समस्या का समाधान हो जाएगा, पूजा 15,000 की होगी. जब मैंने इतने पैसों के लिए मना कर दिया, तो पंडित ने कहा कि अभी 8,000 दे दो, बाकी काम होने के बाद दे देना. मैंने पैसे दे दिए. पंडित ने पूजा कर दी और मुझे अलग-अलग तरह का प्रसाद भी दिया. ​तकि​ए के नीचे रखने के लिए काले रंग का ताबीज़, बिस्तर के नीचे रखने के लिए नींबू और भी बहुत कुछ. लगभग डेढ़ महीने बाद, जब मुझे कोई फर्क़ नहीं दिखा, तो मैं अपने पैसे वापस मांगने गई. उसने मुझे बताया कि मुझ पर मेरे पापा की तरफ़ के लोगों ने काला जादू किया है. मैने उसे बताया​ कि मेरा कोई दुश्मन नहीं है. एक बार मैंने कुछ महिलओं को उसके लिए इंतज़ार करते देखा. मैंने उनसे बताया कि ये फ्रॉड है और इसे कुछ नहीं आता, तब भी वो उन महिलाओं को अपनी बात मनवाने में कामयाब रहा.
मैं समझ गई थी कि उससे कुछ नहीं होगा, वो बस लोगों को उल्लू बना रहा है. वो मुझे कई दिनों तक टाल रहा था. फ़िर आखिर में उसने कह दिया कि मुझे दोषमुक्त होने के​ लिए एक ब्राह्मण के साथ सोना पड़ेगा. मैं चौक गई कि ऐसा कैसे कह सकता है, मैंने उसे मना कर दिया और अपने पैसे वापस मांगे.

7 जनवरी को रीना दोबारा उस ज्योतिषी के आॅफ़िस गई, तो देखा वहां ताला लगा था. आस-पास के दु​कान वालों ने उसे प्रोफ़ेसर नरेंद्र नायक का नंबर दिया.

प्रोफ़ेसर ने बताया कि-

जब हमने रामकृष्ण का पर्दाफ़ाश किया, तब हमें उमीद थी इससे कई लोग सामने आएंगे, हमारा अंदाज़ा सही था. जब पुलिस ने पंडित को गिरफ़्तार किया तो, हम चाहते थे कि जिन लोगों पर ये सब बीत चुका है वो खुद सामने आएं. इसीलिए मैंने पंडित के आॅफ़िस के आस-पास के लोगों को अपना नंबर दे​ दिया और बोला कि जो भी इसकी शिकायत दर्ज़ कराना चाहता है, वो मुझसे संपर्क कर ले.
रीना ने हमें शुरुआत में कुछ साफ़ नहीं बताया. लेकिन बाद में खुल कर सारी बातें बताईं. ब्राह्मण के साथ सोने की बात भी बताई और रामकृष्ण के गुरू द्वारा की गई बदतमीज़ी का ज़िक्र भी किया. रीना ने हमें बताया कि एक बार पंडित का मेरे पास फ़ोन आया कि उसके कोई गुरु केरल से आए हुए हैं और वो उनसे मिल लें. गुरु के पास रीना गई तो वो उसकी कहानी सुन कर रोने लगे. गुरु एक मटके पर कुछ जादू-टोना करने लगे और रीना से उसकी नाभी दिखाने को कहने लगे. गुरु का कहना था कि उसे रीना की नाभी पर भभूत छिड़कनी है. जब रीना ने इसके लिए मना कर दिया, तो वो खुद से उसकी स्कर्ट नीचे करने लगे. रीना घबरा कर किसी तरह वहां से निकल गई.

रीना की पूरी बात पुलिस ने दर्ज कर ली है और अब उसके साथ जनवाणी महिला संगठन की दो महिलाएं भी हैं, जो उसे ​इंसाफ़ और पैसे वापस दिलाने में मदद कर रही है.

Article Source- TOI