अगर आप देश में चल रही उथल-पुथल की ख़बरों से काफ़ी आहत हैं, तो पुणे से आई ये ख़बर आपका दिन बना देगी. अब तक आपका सामना तरह-तरह के ऑटो ड्राइवर से हुआ होगा, अब मिलिये पुणे के अविनाश भोकरे से. पेशे से ये ऑटोचालक हैं और इन्होंने क़ाबिले-ए-तारीफ़ काम किया है.

Source : indiatvnews

अविनाश की ऑटो में बैठा एक ग्राहक अपना बैग उसी ऑटो में भूल गया. इसके बाद अविनाश ने उसे ढूंढने की काफ़ी कोशिश की, लेकिन वो उसे कहीं नज़र नहीं आया. इसके बाद ऑटो चालक ने देरी न करते हुए, तुरंत पुलिस स्टेशन जाने का फ़ैसला लिया और बैग पुलिस को सौंप दिया. वहीं पुलिस स्टेशन में तैनात शेखर कौटकर और मोहन मलगुंडे ने जब बैग खोल कर देखा, तो उसमें से चार लाख रुपये का चेक, एक डायरी, कम्यूटर और मिलिंद पटेल नामक शख़्स का मोबाइल नबंर मिला, जिस पर फ़ोन करने पर पता चला कि वो बैग उनके दोस्त युवराज माने का है.

Source : siyaram

इसके बाद पुलिस ने युवराज माने से संपर्क कर वो बैग उन्हें दे दिया. अपना खोया बैग और पैसे पाकर युवराज काफ़ी ख़ुश हो गए और ऑटो चालक अविनाश की ईमानदारी के लिये उसे दिल से शुक्रिया कहा.

सच में कुछ लोगों के लिये ईमानदारी से बढ़ कर कोई धर्म नहीं होता और अविनाश उसी की मिसाल हैं.

Source : TN