आज भले ही बलात्कार का आरोप साबित होने के बाद बाबा राम रहीम सलाखों के पीछे पहुंच गए हों, पर एक बात शुरू से साफ़ थी कि बाबा राम रहीम और विवाद का चोली-दामन का साथ था. बलात्कार के आरोप साबित होने से पूर्व भी बाबा कई बार कानून के निशाने पर आ चुके हैं. आज हम आपको बाबा से जुड़े कुछ ऐसे विवाद बता रहे हैं, जिन्होंने माहौल बिगाड़ने के साथ ही हवा में तनाव फैला दिया था.

मई 2007 में पंजाब के बठिंडा में डेरा सलावतपुरा में हुए सम्मलेन के दौरान डेरा प्रमुख राम रहीम सिंह, गुरु गोबिंद सिंह जी की वेषभूषा में नज़र आये, जिसे ले कर काफ़ी विवाद हुआ. अख़बार में तस्वीर छपने के बाद सिर्फ़ बठिंडा में ही नहीं, बल्कि सारे पंजाब में राम रहीम का का पुतला फूंका गया. इन प्रदर्शनों के दौरान कई सिखों पर डेरा प्रेमियों ने हमला बोल दिया, जिसके बाद सिखों और डेरा प्रेमियों के बीच हिंसक टकराव की कई ख़बरें सामने आई थी.

Source: quint

जनवरी 2016 में सोशल मीडिया पर गुरमीत राम रहीम का एक वीडियो वायरल हो रहा था, जिसमें वो भगवान विष्णु की वेशभूषा में नज़र आये थे. इस वीडियो में वो गले में माला पहने हुए आशीर्वाद देने की मुद्रा में हाथ उठाये हुए दिखाई दे रहे थे. इस बाबत अखिल भारतीय हिन्दू महासंघ के सदस्यों ने बाबा के ख़िलाफ़ मोर्चा खोल दिया था, जिसके बाद जीरकपुर पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई थी.

डेरा प्रमुख और समर्थकों पर इसके अलावा कई और केस दर्ज हैं, जिनमें हत्या, लोगों को धमकाने, साम्प्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने और पुरुषों को नपुंसक बनाने जैसे मामले शामिल हैं. मूल रूप से राजस्थान के गंगानगर के रहने वाले राम रहीम की तीन बेटियां हैं, जिनमें से उन्होंने एक बेटी को कुछ साल पहले ही गोद लिया है. बाबा अपने परिवार के साथ डेरे के आश्रम में ही रहते हैं.

Source: dainikbhaskar