पतंजलि भारतीय बाज़ार में आज एक टॉप ब्रांड बन गया है. स्वदेसी उत्पादों को बेचने वाला ये ब्रांड, कई बड़ी कम्पनियों को भी पीछे छोड़ चुका है. पतंजलि के CEO आचार्य बालकृष्ण ने कहा है कि पतंजलि ने साल 2016-17 के अपने टारगेट को पूरा करते हुए 10,000 करोड़ रुपये का कारोबार किया है.

Source: Dailyo

Ministry of Corporate Affairs की जानकारी के मुताबिक, साल 2014-15 में पतंजलि का रेवेन्यु 2,014 करोड़ रुपये था. अगले साल इसमें 146 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी. पतंजलि के घी, आटे, कॉस्मेटिक्स आदि के कारण पतंजलि का कारोबार नयी ऊंचाइयों पर पहुंच रहा है.

हिंदुस्तान यूनीलीवर, डाबर और ITC जैसी बड़ी कम्पनियों को भी अब पतंजलि कड़ी टक्कर दे रहा है. पतंजलि की कई ब्रांच हरिद्वार, तेजपुर और काठमांडू में खोली गयी हैं. आगे ये अपनी फैक्ट्री नोएडा, नागपुर और इंदौर में खोलने की योजना बना रहे हैं.

Source: Indiatimes

Federation of Indian Chambers of Commerce and Industry (FICCI) की मीटिंग में पतंजलि के CEO आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि इस साल वो कंपनी के मार्केट शेयर को दोगुना करने की योजना बना रहे हैं. हालांकि, उनका कम्पनी को पब्लिक बनाने का अभी कोई इरादा नहीं है.

Source: Thequint