सीबीआई की विशेष अदालत ने राम रहीम सिंह को दोषी करार देते हुए 20 साल कैद की सज़ा सुनाई. रेप आरोप साबित होते ही देश भर के मीडिया चैनलों पर बाबा के ख़िलाफ़ बहस होती हुई दिखाई दी. सड़क से ले कर न्यूज़ रूम तक लोग कोर्ट के इस फ़ैसले की तारीफ़ करते हुए दिखाई दिए.

वहीं धर्म नगरी बनारस में भी हाथों में कमंडल और गेरुआ कपड़े धारण किये साधुओं ने भी बलात्कारी बाबा के ख़िलाफ़ फांसी की सज़ा मांग की. साधुओं का एक समूह हाथों में बोर्ड ले कर बाबा के ख़िलाफ़ नारे लगाते हुए उनके लिए प्रदर्शन करने सड़कों पर उतरा था.

धुनि बाबा नाम के एक साधु का कहना है कि 'राम रहीम पर पैसे, पावर और हवस का नशा सवार है, जबकि एक सच्चा साधु दुनियादारी के सभी मोह छोड़ कर सादा जीवन व्यतीत करता है.' वो आगे कहते हैं 'ऐसे आदमी को सख़्त से सख़्त सज़ा दी जानी चाहिए.'

फ़िलहाल सीबीआई अदालत बाबा को रेप के दो मामलों में 20 साल कैद की सज़ा सुना चुकी है. इनमें से एक मामला, नाबालिक के बलात्कार का है. इसके साथ ही बाबा पर 30 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है. ये राशि पीड़िताओं को दी जाएगी.

Source: HT