भारत में कई ऐसे हिस्से हैं, जहां लोगों के पास पीने का पानी तक नहीं है. सिर्फ़ राजस्थान ही नहीं, केरल, तमिलनाडु, तेलंगाना, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, हर राज्य सूखे की मार झेल रहा है. इन राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों के पास खेती और जानवरों को पिलाने के लिए भी पानी नहीं है. इतना ही नहीं लोग वहां खुद सूखे गले से भगवान को याद करने पर मजबूर हैं.

सबसे ज़्यादा सूखे का असर दिखा केरल में, लेकिन वहां इस मार को झेल रहे लोगों के लिए किसी देवी-सी बन कर सामने आई हैं P. Ammini. इन्होंने अपने जिले Palakkad की हालत देख कर इसका उपाय सोचा.

Source: HT

उन्होंने पिछले 6 महीनों में अपने जिले की अलग-अलग जगहों पर 150 से ज़्यादा कुएं खोदे हैं. P. Ammini की टीम में कई महिलाएं हैं, जो इनकी इस काम में मदद करती हैं.

P. Ammini बताती हैं कि उन्हें ये ख़्याल तब आया, जब पिछले साल एक गांव की महिला ने खुद को कुछ लीटर पानी की वजह से बेच दिया था.

Source: HT

शुरू में इस काम को करने में P. Ammini और उनके साथ काम करने वाली महिलाओं को काफ़ी डर लगता था. लेकिन अब वो बड़ी आसानी ने 60 से 80 फ़ीट तक का गड्ढा खोद लेती हैं. इनके बनाए गए कुओं से कई गांववालों की ज़िंदगी बेहतर हुई है.

Source: Hindustan Times

देश में पानी के हालात तेज़ी से बिगड़ रहे हैं. शहर हो या गांव हर जगह के हालात एक जैसे ही हैं. ऐसे में P. Ammini जैसे लोगों की हिम्मत ही है, जो हमें किसी और पर निर्भर होने की जगह खुद उपाय खोजना सिखाती है.