भारत की तरह ही भारत का सिनेमा भी विविधताओं से भरा हुआ है. सालों से लोगों का मनोरंजन कर रहे बॉलीवुड ने भारत के अलग-अलग हिस्सों से आए लोगों को पहचान दिलाई है. इन्होंने न सिर्फ़ बॉलीवुड में काम किया, बल्कि दर्शकों के दिलों पर भी राज किया है. आज हम बात करने जा रहे हैं ऐसी ही उन बंगाल की अभिनेत्रियों की, जिनकी ख़ूबसूरती ने हर किसी को सम्मोहित किया है. ये अभिनेत्रियां न सिर्फ़ अपनी ख़ूबसूरती, बल्कि अदाकारी के लिए भी जानी जाती हैं.

1. मौसमी चटर्जी

मौसमी चटर्जी भी हिन्दी और बंगाली फ़िल्मों में काम कर चुकी हैं. मौसमी की पहली फ़िल्म 'बालिका वधु' थी, जो साल 1967 में आई थी. मौसमी की अंतिम फ़िल्म हाल में आई 'पीकू' है.

Source - Twitter

2. सुचित्रा सेन

सुचित्रा सेन का जन्म साल 1931 में हुआ था. इनकी ख़ूबसूरती और अभिनय के लाखों लोग दीवाने थे. सुचित्रा ने 1952 से 1979 तक 60 से ज़्यादा बंगाली और हिन्दी फ़िल्मों में काम किया. सुचित्रा सेन को उनके काम के लिए पद्मश्री और बाबा बिभूषण लाइफ़ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था.

Source - Ibnlive

3. बिपाशा बासु

बिपाशा का जन्म 1979 में हुआ था. उनकी पहली फ़िल्म 'अजनबी' 2001 में आई थी. बिपाश अपनी थ्रिलर और हॉरर फ़िल्मों के लिए जानी जाती हैं. 'राज़', 'गुनाह' और 'जिस्म' उनकी प्रसिद्ध फ़िल्मों में से हैं. बिपाशा ने करीब 55 से ज़्यादा फ़िल्मों में काम किया है. बिपाशा 33 बार फ़िल्म पुरस्कार के लिए नामित हुईं और 25 बार जीत चुकीं हैं.

Source - Thelabellife

4. जया बच्चन

जया बच्चन का शादी से पहले नाम जया भादुड़ी था. जया का जन्म साल 1948 में हुआ था. जया ने करीब 44 से ज़्यादा हिंदी, बंगाली और दूसरी भाषाओं में काम किया था. जया साल 2004 से राजनीति में सक्रिय हैं.

Source - Twimg

5. देविका रानी

देविका रानी चौधरी का जन्म साल 1908 में एक बंगाली परिवार में हुआ था. देविका फ़िल्मों में काम करने वाली भारत की पहली अदाकारा हैं. देविका की शादी फ़िल्म निर्माता हिमांशू राय से साल 1933 में हुई थी, जिन्होंने देविका को अपनी फ़िल्म 'कर्मा' में कास्ट किया था. देविका ने 1933 से 1943 तक 15 फ़िल्मों में अभिनय किया था. देविका को पद्मश्री, दादासाहब फाल्के पुरस्कार और सोवियत लैंड नेहरू पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया था.

Source - Inmemoryglobal

6. कोंकणा सेन शर्मा

कोंकणा सेन का जन्म 1979 में हुआ था. फ़िल्म 'इंद्रा' में उन्होंने बाल कलाकार के रूप में काम किया था. कोंकणा ने 43 से ज़्यादा हिंदी और बंगला फ़िल्मों में काम किया है. 'पेज 3', 'वेक अप सिड', 'तलवार' और 'लाइफ़ इन अ मैट्रो' उनकी कुछ प्रसिद्ध फ़िल्में हैं.

Source - Starsunfolded

7. रिया सेन

सुचित्रा सेन की पोती रिया सेन का जन्म साल 1981 में हुआ था. रिया सेन की पहली फ़िल्म 'सत्या' साल 2001 में रिलीज़ हुई. इसके बाद उन्होंने 36 से ज़्यादा दूसरी भाषाओं में फ़िल्में की हैं. वो मॉडलिंग के लिए भी जानी जाती हैं.

Source - Pinterest

8. ऋतुपर्णा सेनगुप्ता

ऋतुपर्णा सेनगुप्ता का जन्म साल 1971 में हुआ था. ऋतुपर्णा ने हिन्दी, बंगाली और बांग्लादेशी फ़िल्मों में काम किया है. ऋतुपर्णा ने करीब 74 हिन्दी और बंगाली फ़िल्मों में काम किया है.

Source - Filmibeat

9. शर्मिला टैगोर

सत्यजीत रे की फ़िल्म 'अपुर संसार' से फ़िल्मी करियर की शुरुआत करने वाली शर्मिला टैगोर ने हिंदी, बंगाली और मराठी में करीब 56 फ़िल्में की हैं.

Source - Zulm

10. रानी मुखर्जी

रानी का जन्म 1978 में हुआ था. रानी की पहली फ़िल्म 1996 में आई बंगाली फ़िल्म 'बियर फूल' थी. रानी की पहली हिंदी फ़िल्म 'राजा की आएगी बारत' है. रानी ने अब तक 50 से ज़्यादा फ़िल्मों में काम किया है. रानी मुखर्जी 165 बार फ़िल्म पुरस्कार के लिए नामित हुईं और 155 जीती हैं.

Source - Indiatimes

11. काजोल

काजोल का जन्म 1974 में बंगाली परिवार में हुआ था. काजोल की पहली फ़िल्म 'बेख़ुदी' साल 1992 में आई थी. काजोल को फ़िल्म 'दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे' और 'बाज़ीगर' से पहचान मिली. काजोल ने 45 से ज़्यादा हिंदी फ़िल्मों में काम किया है.

Source - Indiatimes

12. सुष्मिता सेन

सुष्मिता का जन्म साल 1975 में हैदराबाद में एक बंगाली परिवार में हुआ था. सुष्मिता ने 1994 में 'मिस इंडिया' का ख़िताब जीता था. इसी साल उन्होंने 'मिस वर्ल्ड' का खिताब भी जीता. इसके बाद उन्होंने बॉलीवुड का सफ़र शुरू किया. सुष्मिता की पहली फ़िल्म 'दस्तक' 1996 में रिलीज़ हुई थी. सुष्मिता ने 50 से ज़्यादा फ़िल्मों में काम किया है.

Source - Indiatoday

Source - Fansofcinema