सर्दियां शुरू हो चुकी हैं, कश्मीर में भी बर्फ़बारी ने दस्तक दे दी है. क्रिसमस की छुट्टियां भी आने वाली हैं. ऐसे में कही घूमने जाना तो बनता है. इस बार क्यों न स्नोफॉल के दर्शन किए जाएं. इस बार हमने शिमला या मनाली नहीं बल्कि देश के दूसरे इलाकों की लिस्ट बनाई है जहां आप स्नोफॉल के साथ ही वहां खेले जाने वाले विंटर स्पोर्ट्स का भी लुत्फ़ उठा सकते हैं.

चादर ट्रैक-लद्दाख

चादर ट्रैक लद्दाख के जंस्कार इलाके में मौजूद है. यहां दुनिया का सबसे ख़तरनाक ट्रेकिंग ट्रैक है. क्योंकि यहां लगातार जमी हुई नदी के ऊपर ट्रेकिंग करनी होती है. यहां आपको एक से बढ़कर एक सुंदर बर्फ से लदे पहाड़ देखने को मिलेंगे, बस आपको ठंड से बचने का अतिरिक्त इंतज़ाम करना होगा.

रूपकुंड- उत्तराखंड

रूपकुंड हिमालय के ग्लेशियरों के पिघने से बनने वाली एक झील है. लगभग 5029 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित इस झील को कंकाल झील के नाम से भी जाना जाता है. ट्रेकिंग के शौकीन लोग यहां काठगोदाम होते हुए पहुंच सकते हैं.

तवांग- अरुणाचल प्रदेश

तवांग भारत का सबसे बड़ा बौद्ध मठ है. इसकी सीमा तिब्बत, भूटान और चीन से लगती हैं. यहां आप ट्रेकिंग के साथ ही नूरांग के झरनों, बुमला पास भारत-चीन बॉर्डर और तवांग मोनस्टरी का सुंदर नज़ारा देख सकते हैं.

सोमगो झील- सिक्किम

सोमगो झील का नज़ारा सर्दियों में दुगना हो जाता है. गंगटोक से 35 किलोमीटर दूर नाथुला दर्रे के पास है ये झील. यहां आपको हिमालयन हिरण और रेड पांडा जैसे दुर्लभ जानवरों के भी दर्शन हो सकते हैं. यहां कंचनजंगा की पहाड़ियों का बहुत ही सुंदर नज़ारा भी दिखाई देता है.

सोनमर्ग- कश्मीर

सोनमर्ग एक आइडियल स्नो वैकेशन डेस्टिनेशन है. अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले लोगों के लिए स्टार्टिंग पॉइंट है. यहां आप थजिवास ग्लेशियर, सत्सर झील, जोजीला पास और निनिचाई पास जैसे अन्य पर्टक स्थलों पर भी घूम सकते हैं.

नारकंडा-हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश के इस हिल स्टेशन की ख़ूबसूरत वादियों के चर्चे देश ही नहीं विदेशों में भी हैं. प्रदेश की सरकार यहां हर साल दिसंबर-मार्च के बीच ट्रेकिंग का कोर्स करवाती है. यहां आप हाटु पीक, हाटु मंदिर, महामाया मंदिर जैसे फ़ेमस टूरिस्ट स्पॉट घूमने जा सकते हैं.

रोहतांग पास- हिमाचल प्रदेश

रोहतांग पास लाहौल-स्पीति और मनाली घाटी को जोड़ने का काम करता है. यहां आप बर्फ़बारी के साथ ही स्कीइंग, ट्रेकिंग और पैराग्लाइडिंग का लुत्फ़ उठा सकते हैं. बस यहां घूमने से पहले आपको इंडियन आर्मी से परमिशन लेनी पडेगी.

पराशर झील- हिमाचल प्रदेश

पराशर झील एक बहुत ही शांत क्षेत्र है. कहते हैं कि यहां पराशर ऋषि ने अपनी तपस्या की थी. इसकी पास पगौड़ा स्टाइल में उनका मंदिर भी बना है. इस झील की ख़ासियत ये है कि इसके आस-पास कोई पेड़ नहीं है और इसके बीच में एक छोटा-आईलैंड है जो इधर से उधर घूमता रहता है.

स्पीति घाटी- हिमाचल प्रदेश

लद्दाख और तिब्बत की सीमा से सटी इस घाटी में चारों तरफ़ ठंडा रेगिस्तान और बर्फ़ से ढके पहाड़ दिखाई देते हैं. मनाली हाइवे से यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है. यहीं दुनिया का सबसे ऊंचा गांव किब्बर भी है. इसके अलावा आप यहां धनकर और चंद्रताल झील, बौद्ध मठ आदि के भी दर्शन कर सकते हैं.

गंगटोक- सिक्किम

बड़े-बड़े पहाड़ और बर्फ़ से ढकी चोटियां इसकी शान हैं. इसे लैंड ऑफ़ मोनेस्टी भी कहा जाता है. यहां आप तीस्ता नदी में रिवर राफ़्टिंग कर सकते हैं, याक सफ़ारी का लुत्फ़ उठा सकते हैं और रोपवे केबल राइड का भी आनंद ले सकते हैं.

तो आप कब जा रहे हैं इंडिया की इन स्नो वैकेशन डेस्टिनेशन्स की सैर पर.

Source: Thrillophilia