हनुमान जी को लेकर बहुत सी कथाएं और मान्यताएं प्रचलित हैं, लेकिन क्या कभी ऐसी जगह के बारे में सुना है, जहां के लोगों ने भगवान हनुमान को डॉक्टर की उपाधि दी हो?

हम बात कर रहे हैं मध्यप्रदेश के ग्वालियर से करीब 70 किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश की सीमा से सटे भिंड ज़िले के दंदरौआधाम के डॉ. हनुमान की. बीते 6 सितबंर को बुढ़वा मंगल के मौके पर करीब दो लाख से भी ज़्यादा श्रृद्धालुओं की भीड़ डॉक्टर हनुमान के दर्शन के लिए उमड़ी. ऐसा माना जाता है कि यहां स्थापित हनुमान जी की मूर्ति के दर्शन मात्र से बड़े से बड़ा रोग ठीक हो जाता है.

Image Source : youtube

भक्तों की भीड़ को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इतज़ाम किए गए थे. भक्तों की सुरक्षा को मद्देनज़र रखते हुए, पुलिस के साथ ही प्रशासन के आला अधिकारियों को तैनात किया गया था. भक्तों की भीड़ को कंट्रोल करने और ट्रैफ़िक की समस्या से निपटने के लिए, वाहनों को मंदिर से करीब 1 किमी दूर पर ही रोका दिया गया.

Image Source : boldsky

डॉ. हनुमान के दर्शन के लिए भक्तों ने करीब रात 8 बजे से मंदिर में प्रवेश करना शुरू कर दिया था. मंगलवार सुबह 9 बजे तक करीब 1 लाख भक्तों ने डॉ. हनुमान के दर्शन कर आर्शीवाद लिया. सोमवार रात से मंगलवार दोपहर करीब 2 बजे तक मंदिर भक्तों से भरा रहा. भक्तों ने पहले डॉ. हनुमान के दर्शन किए, फिर मंदिर परिसर से बाहर निकलने से पहले दंदरौआधाम के महंत श्रीश्री 1008 महामंडलेश्वर रामदास महाराज से आशीर्वाद लिया.

इसे भगवान का चमत्कार कहें या भक्तों की आस्था कि दिन पर दिन यहां आने वाले भक्तों की संख्या बढ़ती ही जा रही है.

Source : naidunia