देश में पुलिस विभाग की एक छवि बन चुकी है कि वो भ्रष्ट ही होगी. ऐसे में पुलिस से जुड़ी कोई ऐसी बात सामने आती है, जिसका संबंध ईमानदारी से हो, तब ख़बर रोचक बन जाती है . मामला बिहार का है, जहां शराबबंदी लागू है.

असिंसटेंट सब-इंस्पेक्टर प्रभात शंकर ने इमानदारी की मिसाल पेश करते हुए अपने पुलिस विभाग को ये सूचना दी कि उसका खुद का बेटा शराब की तस्करी कर रहा है. जिस वजह से दरभंगा जिले में प्रभात शंकर का बेटा भारत निर्मित 25 विदेशी शराब के बोतलों के साथ पकड़ा गया.

Representational Image

Additional Superintendent of Police दिलनवाज़ अहमद ने कहा कि शंकर ने पुलिस विभाग को बताया कि उसका बेटा शराब की तस्करी से जुड़ा है.

बीती रात जब विश्वविद्यालय पुलिस थाने के द्वारा उसकी गाड़ी की जांच हुई. तब शंकर का बेटा हरियाणा में बिकने वाली 25 शराब की बोतलों के साथ पकड़ा गया.

आरोपी इंद्रजीत कुमार को बिहार के नए क़ानून के तहत गिरफ़्तार कर लिया गया. आपको बता दें कि बिहार में पिछले साल के अप्रैल से शराबबंदी लागू है.

पुलिस ऑफिसर प्रभात शंकर की वर्तमान बहाली दरभंगा के अशोक पेपर मिल थाने में है.

होली में शराब की तस्करी को रोकने के लिए बिहार पुलिस मुस्तैदी के साथ लगी हुई है.

Feature Image Source- news24today