देश की सबसे अधिक जनसंख्या वाला प्रदेश, उत्तर प्रदेश. प्रदेश विकास की दौड़ में कितना आगे हैं ये तो पता नहीं लेकिन यहां से रोज़ाना अप्रिय ख़बरें ज़रूर आ रही हैं. बुलंदशहर में भड़की हिंसा के कारण एक पुलिस इंस्पेक्टर और एक युवक की मृत्यु हो गई थी. इस घटना की जांच चल ही रही थी और आगरा में एक लड़की को ज़िन्दा जलाए जाने का मामला सामने आया. पुलिस का कहना है कि 15 हज़ार लेकर आरोपियों ने घटना को अंजाम दिया था.

अब उत्तर प्रदेश से एक और निंदनीय घटना सामने आई है. एक विकलांग ने सड़क पर अखिलेश के समर्थन में नारे लगा दिए और कहा कि उन्हें ही वोट देगा. मौके पर अमरोहा के बीजेपी लीडर मोहम्मद मियां भी मौजूद थे. नेतीजी को ये बात अखर गई और उन्होंने मोदी विरोधी नारे लगाने वाले विकलांग के मुंह में लाठी डालकर चुप करवाने की कोशिश की. नेतीजी विकलांग को मौके पर से भगाते भी दिखे.

वीडियो में विकलांग 'अखिलेश यादव ज़िन्दाबाद' के नारे लगाते नज़र आ रहा है.

घटना संभल के एसडीएम के दफ़्तर के बाहर घटी. सूत्रों का कहना है कि विकलांग मोदी और योगी को गालियां दे रहा था और अमरोहा के बीजेपी लीडर, मोहम्मद मियां ने 'फै़सला ऑन द स्पॉट' कर दिया. प्रशासन ने मोहम्मद मियां के खिलाफ़ रिपोर्ट दर्ज कर ली है.

वीडियो में नेताजी के अलावा भी काफ़ी लोग नज़र आ रहे हैं लेकिन कोई भी प्रतिवाद करता नहीं दिख रहा. विडंबना देखिए, इस मामले में पहले विकलांग को ही जेल भेजा गया और बाद में वीडियो आने पर नेता पर मामला दर्ज किया गया.