बॉलीवुड, सिर्फ़ एक इंडस्ट्री नहीं है. ये एक परिवार है. ऐसा कोई रिश्ता नहीं है, जो आपको यहां देखने को न मिले. 100 साल पुराना ये परिवार, आज भी वैसा ही है, जैसा अपनी शुरुआत में था. इसके दो सदस्य ऐसे हैं, जिनके बिना ये परिवार कभी नहीं बन सकता था. ये सदस्य हैं, 'फ़िल्म डायरेक्टर' और 'एक्टर'. इनके बीच का रिश्ता ही इस परिवार की मज़बूती है.

इस रिश्ते को निभाने वाले कुछ ऐसे लोग हैं, जिनमें से किसी एक का नाम लेने पर, दूसरे का नाम अपने आप दिमाग़ में आ जाता है. आइए जानते हैं, कौन हैं ये लोग?

1. शाहरुख़ खान – यश चोपड़ा

Source: Theindianexpress

शाहरुख़ ही कहते हैं कि किसी चीज़ को दिल से चाहो, तो पूरी क़ायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है. शायद यही वजह थी कि करियर की शुरुआत में ही यश चोपड़ा का हाथ शाहरुख़ के सिर पर आ गया. जिस मूवी ने शाहरुख़ को बॉलीवुड के बड़े एक्टर्स की गिनती में ला दिया, उस 'डर' मूवी के डायरेक्टर यश चोपड़ा ही थे. शाहरुख़ ने अपने काम को ईमानदारी से करते हुए, यश चोपड़ा पर इतना प्रभाव डाला कि वो शाहरुख़ का साथ छोड़ ही नहीं पाए. यश चोपड़ा ने अपनी ज़िंदगी की आख़िरी चार फ़िल्में, 'डर', 'दिल तो पागल है', 'वीर-ज़ारा', 'जब तक है जान', शाहरुख़ के साथ ही की.

2. अनुराग कश्यप - नवाज़ुद्दीन सिद्दिकी

Source: Indiatoday

नवाज़ुद्दीन सिद्दिकी ने सफ़लता के लिए काफ़ी लंबा संघर्ष किया है. आमिर खान की फ़िल्म 'सरफ़रोश' में नवाज़ ने एक रोल किया था, लेकिन शायद ही किसी को वो याद हो. नवाज़़ को दुनिया के सामने पहचान दिलवाई है, तो वो है 'गैंग्स ऑफ़ वासेपुर-2' में उनकी एक्टिंग और अनुराग कश्यप ने. अनुराग ने नवाज़ के दमदार अभिनय को बहुत पहले ही पहचान लिया था, इसीलिए अनुराग ने अपनी फ़िल्म ब्लैक फ़्राइडे और देव डी में भी नवाज़ को मौका दिया था और फिर बाद में लीड रोल भी दिया.

3. राजेश खन्ना - शक्ति सामंता

Source: Rediff

राजेश खन्ना को किसी ने हिंदी फ़िल्मों का पहला सुपरस्टार बनाया है, तो वो है शक्ति सामंता. शक्ति सामंता की 'आराधना', 'अमर प्रेम', 'कटी पतंग' जैसी फ़िल्मों ने ही राजेश खन्ना को Popularity दिलवाई. राजेश खन्ना के करियर का ग्राफ़ इन्हीं फ़िल्मों की वजह से चढ़ा.

4. गोविंदा - डेविड धवन 

Source: Theindianexpress

बॉलीवुड में कॉमेडी की बात करे, तो गोविंदा का नाम लिए बगैर बात नहीं की जा सकती. गोविंदा की कॉमेडी की दुनिया दीवानी है, लेकिन उनकी इस दीवानगी के पीछे डेविड धवन का बहुत बड़ा हाथ है. कॉमेडी फ़िल्में बनानी वाली इस जोड़ी ने 'राजा बाबू' से लेकर 'पार्टनर' तक एक दूसरे का साथ दिया है और सालों से लोगों के चेहरे पर हंसी ला रहे हैं.

5. राज कुमार हिरानी - बोमन इरानी

Source: Hamaraphotos

राज कुमार हिरानी, एक ऐसे डायरेक्टर हैं, जो बख़ूबी जानते हैं कि कैसे एक संदेश देने वाली फ़िल्म को कमर्शियल सफ़लता दिलवानी है. उनकी हिट फ़िल्मों में बोमन इरानी ने हमेशा साथ दिया है. इन दोनों ने एक साथ '3 इडियट्स', 'मुन्ना भाई एम.बी.बी.एस', 'लगे रहो मुन्ना भाई', 'पीके' जैसी फ़िल्में की हैं. हिरानी, हमेशा बोमन के लिए अपनी कहानी में एक रोल सुरक्षित रखते हैं.

6. इमरान हाशमी - मोहित सुरी

Source: Youtube

जब मोहित सुरी का नाम कोई लेता है, तो लोग समझ जाते हैं कि रोमांस के चर्चे हो रहे हैं और जब इमरान हाशमी का नाम मोहित के साथ जुड़ जाए, तो फिर तो पूछिए ही मत. 'राज़-2', 'आवारापन', 'हमारी अधूरी कहानी' जैसी फ़िल्में बताती हैं कि मोहित और इमरान के बीच का रिश्ता कितना गहरा है.

7. शाहरुख़ खान – करन जौहर

Source: Blogspot

जब बात बॉलीवुड में दोस्ती की आती है, तो 'जय वीरू' की दोस्ती के बाद दूसरा नाम शाहरुख़-करन जौहर का आता है. करन, शाहरुख़ के कॉस्ट्यूम डिज़ाइनर हैं, लेकिन बॉलीवुड के सबसे सफ़ल निर्देशकों में से भी एक हैं. करन के निर्देशन की पारी की शुरुआत शाहरुख़ के साथ ही हुई. 'कुछ कुछ होता है', 'कल हो न हो', 'कभी अलविदा न कहना', 'माय नेम इज़ खान' जैसी सुपरहीट मूवीज़ साथ में की है.

8. कबीर खान – सलमान खान

Source: Thequint

डायरेक्टर और एक्टर का ये डुओ, एक्शन, रोमांस और ब्लॉकबस्टर का दूसरा नाम है. वैसे तो कबीर खान ने 'काबुल एक्सप्रेस', 'न्यू यॉर्क', 'फ़ैंटम' भी बनाई है, लेकिन Popularity इन्हें सलमान खान की 'एक था टाइगर' और 'बजरंगी भाईजान' से मिली. और सलमान भी इन्हीं फ़िल्मों से बॉलीवुड में भाई जान बने हुए हैं.

9. यश चोपड़ा - अमिताभ बच्चन

Source: Newstrack

महान लोगों का साथ आम इंसान को भी महान बना देता है. लेकिन, अमिताभ बच्चन और यश चोपड़ा में ये तय कर पाना मुश्किल है कि कौन किसकी महानता की वजह बना. यश चोपड़ा ने अमिताभ के साथ दीवार, त्रिशूल, वक़्त, सिलसिला जैसी ब्ल़ॉकबस्टर मूवीज़ बनाई हैं.

10. अजय देवगन – रोहित शेट्टी

Source: Bollywoodpapa

'चेन्नई एक्सप्रेस' और 'दिलवाले' को छोड़कर, आप रोहित शेट्टी की किसी भी मूवी का नाम ले लीजिए, एक एक्टर सबमें कॉमन मिलेगा. वो एक्टर है, अजय देवगन. रोहित का अजय के साथ फ़िल्मों का सिलसिला 2003 से 'ज़मीन' फ़िल्म के साथ चला आ रहा है, जो अभी भी जारी है. रोहित शेट्टी ने अजय देवगन के साथ 'ज़मीन', 'गोलमाल', 'संडे', 'गोलमाल-2', 'गोलमाल-3', 'ऑल द बेस्ट', 'सिंघम', 'बोल बच्चन', 'सिंघम रिटर्न्स' जैसी फ़िल्में की हैं.

11. फ़राह खान - शाहरुख़ खान

Source: Bollywoodlife

शाहरुख़ खान बॉलीवुड के एक ऐसे अभिनेता है, जिनका संबंध अपने निर्देशकों के साथ बहुत ही दोस्ताना रहता है. लेकिन, उनकी ये दोस्ती और भी गाढ़ी हो जाती हैं, जब उनका पुराना दोस्त ही फ़िल्म डायरेक्टर बन जाए. फ़राह खान एक ऐसा ही नाम है. फ़राह खान फ़िल्मों में शाहरुख़ का डांस डायरेक्ट करते-करते, उनकी एक्टिंग को भी डायरेक्ट करने लगी. जब-जब ये दोनों साथ आए हैं, बॉक्स ऑफ़िस पर भूचाल ही आया है. फराह़ ने अभी तक तीन फ़िल्में 'मैं हूं ना', 'ओम शांति ओम' और 'हैप्पी न्यू इयर', बनाई हैं, जिसमें लीड रोल में शाह रुख़ ही हैं.

12. रणवीर सिंह - संजय लीला भंसाली

Source: Bollywoodlife

बॉलीवुड में शरारत करने में सबसे उस्ताद रणवीर सिंह, जितने मज़ाकिया हैं, उतने ही संजीदा एक्टर भी हैं. उनकी यही संजीदगी रॉयल फ़िल्में बनाने वाले संजय लीला भंसाली को बहुत पसंद है. इसीलिए तो भंसाली अपनी फ़िल्मों में सबसे पहले रणवीर को ही लेते हैं. भंसाली और रणवीर ने दो ब्लॉकबस्टर फ़िल्में, रामलीला और बाजीराव मस्तानी, साथ में की हैं और अभी पह्मावती की शूटिंग में व्यस्त हैं.

13. सूरज बड़जात्या - सलमान खान

Source: Indianexpress

सूरज बड़जात्या एक ऐसे डायरेक्टर हैं, जिसने 90 के दशक को यादगार बना दिया है. सूरज ने 'मैंने प्यार किया', 'हम आपके है कौन', 'हम साथ-साथ हैं' जैसी लाज़वाब फ़िल्में बनाई हैं. इन फ़िल्मों में एक चीज़ कॉमन रही है, वो है सलमान खान. सूरज बड़जात्या और सलमान खान के बीच फ़िल्मों का सिलसिला 90 के दशक तक ही नहीं चला, बल्कि 'प्रेम रतन धन पायो' जैसी मूवी के साथ अभी भी चल रहा है.

14. सनी देओल – राजकुमार संतोषी

Source: Indya101

बॉलीवुड के 'ही मैन' कहे जाने वाले सनी देओल को एक्शन किंग बनाने में किसी का सबसे बड़ा योगदान है, तो वो है राजकुमार संतोषी का. 'घायल', 'घातक' और 'दामिनी', ये वो फ़िल्में हैं, जिनसे सनी देओल को बॉलीवुड में सही पहचान मिली. इन फ़िल्मों के निर्देशक राजकुमार संतोषी थे.

15. विशाल भारद्वाज - शाहिद कपूर

Source: Newstracklive

क्यूट से दिखने वाले शाहिद कपूर कितने संजीदा एक्टर हैं, ये उनकी फ़िल्म 'कमीने' और 'हैदर' देख कर समझ आता है. इस तरह की फ़िल्मों में हीरो लेते समय निर्देशक ये ध्यान में रखता है कि कोई गंभीर अभिनेता ही ऐसा रोल निभा पाएगा. लेकिन, विशाल भारद्वाज को शाहिद पर पूरा भरोसा होता है कि वो इस तरह के रोल आसानी से कर सकते है, इसीलिए शाहिद उनकी पहली पसंद है.

इनके बारे में जानकर आपको भी लगा होगा कि डायरेक्टर और एक्टर के बीच का रिश्ता, किसी फ़िल्म को सफ़ल बनाने के लिए कितना ज़रूरी है. इस रिश्ते की वजह से ही आज बॉलीवुड पूरे विश्व में फैलता जा रहा है.