बॉम्बे हाई कोर्ट ने सभी शिक्षा बोर्ड को ये सुझाव दिया है कि वो चाहें, तो दसवीं में गणित को Optional Subject बना सकते हैं. न्यायमूर्ति वी.एम. कानडे और ए.के. मेनन ने कहा कि अगर ऐसा होता है, तो अधिकतर छात्र जो कि गणित में पास नहीं हो पा रहे हैं, वो भी अपनी आगे की पढ़ाई कर पाएंगे. BHC ने शिक्षा बोर्ड से इस पर विचार कर 26 जुलाई पर जवाब मांगा है.

बॉम्बे हाई कोर्ट का ये सुझाव सुन कर दिल के अरमान आंसुओं में बह गए! लेकिन ये आंसू खुशी के थे और अरमान बचपन का.

ये ख़बर सुनने की देर थी और हमारे रोम-रोम प्रफुल्लित हो उठा, साथ ही हमारी भावनाएं Memes बन कर निकल गईं!