देश हो या विदेश जॉब से रिटायर होने के बाद लोग आराम करने के बारे में सोचते हैं. क्योंकि उनका जितना काम करना था वो कर चुके होते हैं. लेकिन अब टाइम बदल चुका है लोग रिटायर होने के बाद भी काम करना चाहते हैं. वो या तो दूसरी जॉब ढूंढते हैं या अपना ही कोई काम या बिज़नेस शुरू करते हैं. देख जाए तो ये ठीक भी है ऐसा करके वो खुद को बिज़ी रखते हैं. लेकिन आज हम आपको एक ऐसी महिला से मिलवाने जा रहे हैं, जिन्होंने रिटायरमेंट के बाद आराम करने के बजाय उन्होंने अपना बिज़नेस स्टार्ट किया हैं. लेकिन इनका बिज़नेस बहुत ही अलग है, जिसके बारे में जानकार आप हैरान रह जायेंगे.

Video Source: World News&EveryThing AbouT Life

बोस्निया और हर्जेगोविना के ग्रामीण इलाके में रहने वाली Hava Celebic जिनको लोग Nana Hava के नाम से भी जानते हैं, का दावा है कि वो दुनिया इकलौती इंसान हैं, जो अपनी जीभ से आंखों के घाव का इलाज करती हैं.

आपको जानकार हैरानी होगी कि ये महिला 80 साल की हैं और काफी कमज़ोर भी हैं, लेकिन ये अपनी जीभ से लोगों की आंखों में गिरे हुए लेड, लोहे, कोयले, धूल के कण और कांच के छोटे-छोटे कणों को साफ़ करती हैं. ये काम वो अपने मुंह को अल्कोहल से स्टरलाइज़ (कीटाणुरहित बनाने) के बाद करती हैं.

आपको बता दें कि जो मरीज Nana Hava के पास अपनी आंखों की सफ़ाई करवाने जाते हैं उनको एक कुर्सी पर बैठना पड़ता है उसके बाद अपनी पलकों को पकड़ कर आंखों को खोलना पड़ता है. उसके बाद Hava अपनी जीभ से आंख के अन्दर पड़ी हुई गन्दगी को बाहर निकाल देती हैं.

Hava का कहती हैं, 'मैंने इलाज की ये एक औरत से सीखा है और उसका नाम भी Hava ही था.' इसके साथ ही वो कहती हैं, 'दुर्भाग्य से मैं इस तकनीक को अपने बच्चों को नहीं सिखा सकती हूं क्योंकि मेरे बच्चे किसी की आंख में अपनी जीभ को डालने में घीन महसूस करते हैं. उनको ये गन्दा लगता है. मैंने गांव वालो को कहा है कि मेरे मरने के बाद गांव के लोग मेरी जीभ को काट कर रख सकते हैं, ताकि मेरे जाने के बाद भी लोगों का इलाज ऐसे ही चलता रहे.'

इसके साथ ही Nana Hava का दावा है कि अभी तक वो करीब 5000 लोगों का इलाज कर चुकी हैं और इनमें से बहुत से लोग अलग-अलग देशों से आये थे उनके पास. अमेरिका से लेकर रूस तक के लोग उनके पास आकर इस परम्परागत तरीके से अपना इलाज करवा चुके हैं.

साथ ही वो बताती हैं, 'उन लोगों में से कुछ ऐसे भी थे, जो कई तरह की दवाइयों का इस्तेमाल कर चुके थे इलाज के लिए लेकिन उनको कोई फायदा नहीं हुआ था. इसलिए वो लोग हॉस्पिटल का रास्ता छोड़कर मेरे पास आये थे इलाज के लिए अपनी सूजी हुई आंखों के साथ, और मैंने उनकी आंखे ठीक कर दी उनकी सफ़ाई करके.'

अपनी फीस के बारे में Hava बताती हैं कि वैसे तो इलाज करने का एक बार में मैं 10 यूरो (727.55 रुपये) लेती हूं, लेकिन अगर कोई बेरोजगार व्यक्ति मेरे पास आता है तो उसका इलाज करने के लिए मैं कोई फीस नहीं लेती हूं.

Source: dailymail