पिछले साल दिल्ली में स्कूल की लापरवाही की वजह से मासूमों की जान जाने का मामला सामने आया था. इस तरह के मामलों ने स्कूल प्रशासन की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगा दिया था. हाल ही में एक ऐसा ही मामला दिल्ली से सटे गाज़ियाबाद में देखने को मिला है, जहां एक प्राइवेट स्कूल के अंदर रहस्यमयी परिस्थितियों में चौथी क्लास के एक बच्चे की मौत हो गई.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की ख़बर के मुताबिक, 9 साल का अरमान सहगल इंद्रापुरम के G D Goenka Public School में पढ़ता था. स्कूल प्रशासन का कहना है कि 'मंगलवार सुबह अरमान का एक यूनिट टेस्ट था, पर वो अपनी पेंसिल लाना भूल गया था. पेंसिल लेने के लिए वो बाहर कॉरिडोर में गया कि उसका पैर फिसल गया और वो दूसरी मंजिल से नीचे गिर गया. एक टीचर ने इस हादसे को देखा, तो उसने तुरंत अपनी साथी टीचर को बताया, जिओ अरमान को ले कर पास के ही शांति गोपाल हॉस्पिटल पहुंचे, पर डॉक्टरों ने अरमान को मृत घोषित कर दिया.'

Source: indianexpress

स्कूल प्रशासन का कहना है कि 'जिस जगह ये हादसा हुआ वहां कोई CCTV कैमरा नहीं था.' अरमान की मम्मी स्वाति का कहना है कि 'स्कूल वाले सच को छिपा रहे हैं. उन्होंने इस हादसे के बारे में उन्हें तब बताया, जब वो अरमान को हॉस्पिटल पहुंचा चुके थे. अरमान के कपड़े बुरी तरह गीले थे, जो इस बात का सबूत है कि फर्श पर पानी फैला हुआ था. हमने अरमान की क्लास टीचर से बात करने की कई बार कोशिश की, पर स्कूल वालों ने हमें उनसे मिलने नहीं दिया. आख़िरकार जब हम उनसे मिले, तो उन्होंने हादसे को इस तरह से बताया कि उस पर शक हो रहा है.' पुलिस ने इस बाबत स्कूल प्रिंसिपल, मैनेजर के ख़िलाफ़ धारा 304 और धारा 201 के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

Source: TOI