चोटी काटने की घटनाएं राजस्थान से शुरू हो कर दिल्ली के कुछ इलाकों से UP पहुंची, तो सभी को लगा कि ये शायद किसी तरह की अफ़वाह या कोई मज़ाक चल रहा है. लेकिन जब ये घटनाएं दिल्ली में भी होने लगीं, तो इस बात को सभी माने लगे कि ऐसा सच में हो रहा है. हाल की घटना मुंबई के नालासोपारा की है, जहां दो अलग-अलग घरों में महिलाओं की चोटी काटी गयी और दोनों को बेहोशी की हालत में अस्पताल ले जाया गया.

नालासोपारा ईस्ट की रहने वाली शबाना बानू अपने घर में अकेली थी, जब उसके साथ ये हादसा हुआ. सुबह 5 बजे जब उसकी नींद खुली, तो उसे लगा कि उसके घर में कोई है. थोड़ी देर में उसकी छोटी कटी हुई मिली. ये देखने के बाद ही वो बेहोश हो गयी और जब से उसे होश आया है, वो सदमे में है.

बीनादेवी जैसवाल के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ. वो भी 3:30 बजे सोने गयी और थोड़ी देर में उसे अपने चेहरे पर गुदगुदी का एहसास हुआ. जब उसकी आंख खुली, तो उसे अपनी तकिया पर कटे हुए बाल मिले. ये घटना के बाद से ही बीनादेवी इतने गहरे सदमे में आ गयी कि उनका ब्लड प्रेशर लो हो गया और वो बेहोश हो गयी.

हालांकि, ये अजीब बात है कि इन दोनों घटनाओं को सम्बंधित पुलिस थाने में रिपोर्ट नहीं किया गया है.

Source: Mid Day

Feature Image: NDTV