मुंबई से एक बेहद दुख़द ख़बर सामने आई है, जहां मारिया जुबेरी नामक एक पायलट ने कई ज़िंदगियां बचाने के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घाटकोपर इलाके में निर्माणधीन इमारत के पास एक चार्टर्ड प्लेन क्रैश होने से एक राहगीर समेत 5 लोगों की मौत हो गई. वहीं हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़ भी सकती थी, लेकिन मारिया की सूझबूझ ने बहुत से लोगों को बचा लिया.

Source : abplive

सविल एविएशन मिनिस्टर प्रफ़ुल पटेल ने घटना पर शोक जता कर, मारिया द्वारा उठाए गए कदम की सराहना करते हुए कहा कि 'घाटकोपर की घटना के बारे में सुन कर दुख़ी हूं. विमान एक खुले क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त हुआ. बड़ी दुर्घटना से बचाने के लिए पायलट ने सूझबूझ दिखाई, उसके लिए उसे सलाम.'

ख़बरों के अनुसार, चार्टर्ड प्लेन ने जुहू एयरपोर्ट से टेस्टिंग के लिए उड़ान भरी थी, जिसमें 2 पायलट और 2 मेंटिनेंस इंजीनियर सवार थे. रात करीब 1 बजे प्लेन दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिससे घटना स्थल पर मौजूद एक आदमी की मौत हो गई. ऐसा कहा जा रहा है कि 12 सीटर ये विमान 20 साल पुराना था.

इसके अलावा फ़ायरब्रिगेड के एक अधिकारी ने बयान में कहा कि हमारे कंट्रोल रूम को 1 बजकर 15 मिनट पर प्लेन क्रैश की सूचना मिली. इसके बाद हमारे जवान तुरंत बचाव अभियान के लिए रवाना हो गए.

हादसे में मारे गए कैप्टन पीएस राजपूत, को-पायलट मारिया जुबेरी, असिस्टेंट मेंटेनेंस इंजीनियर सुरभी और एयर टेक्निशियन मनीश पांडे्य को सलाम.

Source : Indiatimes