आए दिन नशे के कारण कई लड़कियों द्वारा बारात लौटाने की ख़बरें सुनते हैं. बीते रविवार को लुधियाना के Mand Jodhwal गांव में भी कुछ ऐसा ही हुआ. पर इस बार दुल्हन हरजीत कौर ने दरवाज़े पर आई बारात दूल्हे के नशे में होने की वजह से नहीं, बल्कि दूल्हे की विकलंगता की वजह से लौटा दी.

दरअसल, बीते जून महीने में हरजीत कौर की सगाई होशियारपुर के बीजो गांव के रहने वाले रंजीत से हुई थी. शादी वाले दिन रंजीत दरवाज़े पर बारात लेकर पहुंचा, तभी हरजीत की नज़र रंजीत के डगमगाते कदमों पर पड़ी, साथ ही उसका शरीर भी कांप रहा था. दुल्हन बनी हरजीत को शक हुआ कि रंजीत उससे कोई बात छिपा रहा है, शायद किसी लंबी बीमारी या विकलंगता की बात.

Image Source : executivepresentations
इसी बात पर हरजीत ने दरवाज़े पर आई बारात लौटाने का फ़ैसला किया. वहीं पूरे मामले में रंजीत का कहना है कि 'बीते कुछ दिनों से उसे बुखार आ रहा था और इसी कारण उसका शरीर कांप रहा था.'

थोड़ी बहस के बाद लड़के वालों ने दूल्हे के विकलांग होने की बात कबूल ली, लेकिन साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि उन्होंने दुल्हन के परिवार वालों को इस बात से अवगत कराया था और हरजीत किसी और कारण से शादी तोड़ रही है.

दोनों पक्षों में हुए बढ़ते मतभेदों को देखते हुए, पुलिस को भी बीच-बचाव में आना पड़ा. समझौते के तौर पर दोनों पक्षों को एक-दूसरे का सामान लौटाना पड़ा. इसके साथ ही दूल्हे के साथ आए 50 बाराती बिना खाना खाए ही लौट गए.

शादी चंद दिनों का नहीं, बल्कि उम्रभर का बंधन होता है, इसीलिए किसी को अपना जीवनसाथी चुनने से पहले काफ़ी सोच-विचार कर लेना चाहिए. ख़ैर दरवाज़े पर आई बारात लौटाना काफ़ी हिम्मत का काम है.

Source : Hindustantimes