कुछ दिनों पहले कर्नाटक के एक बस ड्राइवर की हार्ट अटैक से मौत हो गयी. मौत के वक़्त वो कर्नाटक के तुमकुर ज़िले में बस चला रहा था. लेकिन मरने से पहले वो एक बहुत बड़ा काम कर गया. नागराजू को बस चलाते वक़्त सीने में एकदम से दर्द महसूस होने लगा, तो उसने फ़ौरन अपने कंडक्टर को सूचित किया और उसी वक़्त जैसे-तैसे बस को किनारे लगा दिया. अपनी सूझ-बूझ से उसने बस में बैठे 67 पैसेंजर्स की जान बचा ली.

नागराजू को एकदम से हार्ट अटैक आया था और उस कंडीशन में वो स्वाभाविक रूप से अपना कंट्रोल खो सकते थे, लेकिन उन्होंने अपनी जान की परवाह करते बिना, बाक़ी लोगों की जान बचा ली. अफ़सोस, नागराजू को जब हॉस्पिटल ले जा रहे थे, उनकी मौत हो गयी. लेकिन जाते-जाते वो इतना बड़ा काम कर गए, कि ज़िन्दगी भर ये लोग और उनके परिवारवाले उनके शुक्रगुज़ार रहेंगे.

ये बस शिरा जा रही थी और जब बस लक्कानाहल्ली पहुंची, तब ये हादसा हुआ. बाद में यात्रियों के लिए दूसरी बस मंगवाई गयी.

Feature Image Source: Ytming

Source: Bangalore Mirror