चेन्नई में बीते सोमवार यूपीएससी मेन्स एग्ज़ाम्स में एक आईपीएस ऑफ़िसर नक़ल करते हुए पकड़ा गया. घटना चेन्नई के प्रेसीडेंसी गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल की है. पुलिस के मुताबिक, आरोपी आईपीएस एग्ज़ाम के दौरान ब्लूटुथ के जरिए अपनी पत्नी से कनेक्टेड था और उसकी पत्नी चीटिंग में उसकी मदद कर रही थी. आईपीएस अधिकारी की पहचान सफ़ीर करीम के रूप में की गई है, जो तमिलनाडु के नांगुनेरी में बतौर SSP तैनात था. पुलिस ने आरोपी आईपीएस की पत्नी Joicy Joy को भी गिरफ़्तार कर लिया है.

जांच अधिकारियों ने बताया कि करीम आईएएस जॉइन करना चाहता था, जिसके लिए वो UPSC एग्ज़ाम दे रहा था. करीम की पत्नी अशोक नगर स्तिथ 'La Excellence IAS' इंस्टीट्यूट में गेस्ट लेक्चरर थी.

केरल निवासी करीम, 2014 बैच के आईपीएस अधिकारी है. इसके अलावा करीम इंजीनियरिंग भी कर चुके हैं, यहां तक कि उसने कैट परीक्षा भी क्लियर कर ली है. फिलहाल करीम अभी प्रोबेशन पर थे.

करीम ने अपना गुनाह कबूल करते हुए बताया कि उन्होंने प्रश्नपत्र की तस्वीर लेकर अपनी पत्नी को भेजी थी. आईबी के अधिकारियों ने उसे पुलिस को सौंप दिया है. पुलिस ने करीम पर धारा 420 और 120b के तहत मुक़दमा दर्ज कर लिया गया है.

अधिकारी ने बताया कि करीम ने अपने मोजों में एक फ़ोन और Wireless Earpieces छिपा रखा था. इसके साथ ही उसकी शर्ट में स्पाई कैमरा भी लगा हुआ था. इन सारी चीज़ों के साथ वो अपनी पत्नी के टच में बना हुआ था. इसी दौरान उसे इन्विजिलेटर ने देख लिया, जिसके बाद प्रशासन ने एग्ज़ाम हॉल के अंदर ब्लूटूथ डिवाइस यूज़ करने के अपराध में उन्हें हिरासत में ले लिया.

पुलिस ने मंगलवार की रात करीम को एक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया, जिन्होंने उसी न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. पूछताछ के दौरान के करीम के दोस्तों ने पुलिस को बताया कि एक एक्सीडेंट में लगी चोट के कारण, वो पुलिस फ़िटनेस टेस्ट में फेल हो गया था. इसके बाद से उसे ऐसा लगता था कि उसका भविष्य सिर्फ़ IAS बन कर ही संवरा जा सकता है. साल 2016 में करीम ने Joy से शादी कर ली थी. करीम ने 2015 में एक इंस्टीट्यूट भी खोला था, जिसमें वो छात्र-छात्राओं को सिविल सर्विस एग्ज़ाम के लिए शिक्षित करता था.