कहते हैं कि जब ऊपर से बुलावा आ जाता है तो दुनिया की कोई भी शक्ति उस शख़्स या जीव को वहां जाने से नहीं रोक सकती. तो वहीं कई बार हुई ऐसी मौतों को ‘अकाल मृत्यु’ भी कहते हैं. अकाल मृत्यु का अर्थ होता है कि व्यक्ति तय समय से पहले ही ईश्वर-अल्लाह को प्यारा हो जाता है.
यहां इस श्रृंखला में शामिल किए जा रही शख़्सियतें भी ठीक उसी समय चल बसीं, जब वे अपने शबाब पर चल रही थीं. तो आइए हम आपको रू-ब-रू कराते हैं कुछ ऐसे ही सितारों से...

1. आदेश श्रीवास्तव

बॉलीवुड में गायक और म्यूजिक कंपोजर आदेश पांच साल तक कैंसर से लड़ने के बाद 51 साल की उम्र में चल बसे. आदेश ने ‘चलते चलते’, ‘बाबुल’, ‘बागबां’, ‘कभी ख़ुशी कभी गम’ और ‘राजनीति’ जैसे फ़िल्मों के लिए म्यूजिक कंपोज किया था. गौरतलब है कि फ़िल्मी परिवार से अमिताभ बच्चन, लता मंगेशकर, शाहरुख खान और ए.आर रहमान जैसे दिग्गज उनसे मिलने अस्पताल में पहुंचे थे. वे उनके पीछे उनकी पत्नी व गायिका विजेता पंडित और दो बच्चों को छोड़ गए हैं.

Source: oneindia

2. अबीर गोस्वामी

37 वर्षीय अबीर एक टीवी ऐक्टर थे जिन्होंने ‘कुसुम’, ‘प्यार का दर्द है’ और फरहान अख्तर की फिल्म ‘लक्ष्य’ में भी अभिनय कर चुके हैं. अबीर को एक दम से दिल का दौरा पड़ा जब वे किसी व्यायामशाला में कसरत कर रहे थे. उनके सभी साथी उनकी इस मौत से स्तब्ध रह गए.

3. रितुपर्णो घोष

‘चोखेर बाली’ और ‘अंतर महल’ जैसे जबरदस्त फ़िल्म बनाने वाला यह निर्देशक मात्र 49 की उम्र में चल बसे. उन्हें हृदयाघात पड़ा था और भारत ने उसका एक विजनरी समय से बहुत पहले ही खो दिया. हालांकि यह निर्देशक उनके अंतिम दिनों में उनके सेक्सुअल ओरिएंटेशन की वजह से ख़ासा चर्चा में रहा.

Source: indiatoday

4. संजीव कुमार

संजीव कुमार जैसा अभिनेता जिसने कई कालजयी फ़िल्मों में किरदार निभाया, वह सिर्फ़ 47 की उम्र में ही दुनिया को अलविदा कह गया. सीता गीता, अंगूर, कोशिश और शोले जैसी फ़िल्मों में उनके द्वारा निभाए गए किरदारों को दुनिया आज भी याद करती है.

5. विनोद मेहरा

यह शख़्स अपने जमाने का मोस्ट हैंडसम इंसान हुआ करता था जिसे देखने के लिए लड़कियां पागल हुआ करती थीं. अनुराग, घर और खुद्दार जैसी फ़िल्मों में अहम भूमिका निभाने वाला यह किरदार मात्र 45 की उम्र में चल बसा था. विनोद भी हृदयाघात की चपेट में आ गए थे.

Source: in

6. अमजद खान

अमजद खान का मात्र एक किरदार ही उन्हें कालजयी बना गया. शोले में उनके द्वारा निभाया गया गब्बर का किरदार किसे याद नहीं. हालांकि उन्होंने करीब 130 फ़िल्मों में अभिनय किया लेकिन वे गब्बर के किरदार के लिए ही ज़्यादा याद किए जाते हैं. यह सितारा मात्र 52 वर्षों तक ही जीवित रह सका.

Source: bestimagesof

7. गुरु दत्त

एक ऐसा शख़्स जो उसकी मौत के बाद और भी ज़्यादा प्रासंगिक हो गया. प्यासा, साहिब बीवी और गुलाम और कागज के फूल जैसी फ़िल्मों में अहम भूमिका निभाने वाला यह किरदार जीते-जी ही किंवंदती बन गया था. यह शख़्स मात्र 39 की उम्र में ही इस मतलबी दुनिया को अलविदा कह गया.

Source: nimblefoundation

8. मीना कुमारी

अगर मीना कुमारी को भारतीय सिनेमा इंडस्ट्री के किसी पुरुष किरदार के बरअक्स खड़ा करना हो तो हमारे ज़ेहन में गुरुदत्त का ही नाम आता है. पाकीज़ा जैसी फ़िल्मों में कालजयी किरदार निभाने वाली मीना कुमारी मात्र 39 की उम्र में ही दुनिया छोड़ गईं.

Source: filmibeat

9. निर्मल पांडे

निर्मल पांडे वैसे तो थियेटर की दुनिया और टीवी की प्रमुख चेहरा था, मगर उसे बैंडिट क्वीन में अहम किरदार निभाने हेतु याद किया जाता है. इसके अलावा उन्होंने ‘दायरा’ में भी अहम भूमिका निभाई. वे भी मात्र 48 की उम्र में हार्ट अटैक की चपेट में आ गए.

Source: filmysphere

10 . मधुबाला

मधुबाला सिर्फ़ 36 वर्षों तक ही जी सकीं, मगर इतने कम समय में ही वो कुछ ऐसा कर गईं कि वे आज भी याद की जाती हैं. सन् 1942 में बतौर बाल कलाकार उनके करियर की शुरुआत करने वाली यह नायिका नील कमल और मुगल-ए-आज़म जैसी फ़िल्मो में किरदार निभा कर हमेशा-हमेशा के लिए अमर हो गईं.

Source: youtube

11. गीता बाली

इस अदाकारा को वैसे तो बहुत कम ही लोग जानते होंगे, मगर मात्र 35 वर्षों तक जीवित रहने वाली यह अदाकारा उनकी इस छोटी सी ज़िंदगी में ही राज कपूर, देव आनंद और गुरुदत्त जैसे अभिनेताओं की फ़िल्मों में उनके बरअक्स मुख्य भूमिका निभा चुकी थी.

12. लक्ष्मीकांत बर्डे

अगर आपको ‘हम आपके हैं कौन’ फ़िल्म याद होगी तो उस फ़िल्म में परिवार के नौकर के उस किरदार जो नोट और सिक्के में सिक्का उठाता है ज़रूर याद होगा. इसके साथ ही उसने मैंने प्यार किया जैसी फ़िल्मों में भी अहम किरदार निभाया था. मगर, लक्ष्मीकांत मात्र 50 की उम्र में ही किडनी की दिक्क़तों से चलते बने जब उनके पास फ़िल्मों के कई मौके थे.

Source: zeetalkies

13. दिलीप धवन

नुक्कड़ जैसे यादगार टीवी-शो में गुरू का किरदार निभा कर उनका नाम घर-घर तक पहुंच गया था. इसके अलावा जनम, दीवार और तेरे मेरे सपने जैसी सीरियल्स में अहम किरदार निभा रहा यह सितारा मात्र 45 की उम्र में हार्ट अटैक की वजह से चलता बना.

14. जसपाल भट्टी

अपनी व्यंग्यात्मक शैली और चुटीले अंदाज़ में भारी-भारी चीज़ों को बड़े आराम से कह जाने वाला यह शख़्स एक कार दुर्घटना में चल बसा. ‘फ्लॉप शो’ के नाम से हिट शो चलाने वाला यह शख़्स मात्र 57 की उम्र में ही हमारे बीच से चला गया.

15. शफी इनामदार

दूरदर्शन के दौर में ‘ये जो है ज़िंदगी’ जैसे शोज़ की सबसे चर्चित चेहरे के तौर पर मशहूर इनामदार उनके दौर की सबसे शालीन और प्रॉमिसिंग चेहरों में से एक थीं. उनकी मौत मात्र 50 की उम्र में सन् 1996 में हो गई थी.

16. रसिका जोशी

भूलभूलैया, बिल्लू और गायब जैसी फ़िल्मों में अहम किरदार निभाने वाली यह अभिनेत्री मात्र 39 की उम्र में ही चल बसीं. रसिका को ल्यूकेमिया की बीमारी थी.

17. तरुणी सचदेव

आपको रसना गर्ल तो याद ही होगी, और उसके अलावा तरुणी ने अमिताभ बच्चन अभिनीत “पा” फ़िल्म में भी अभिनय किया था. वे बहुत ही छोटी उम्र में नेपाल में हुए एक प्लेन हादसे का शिकार हो गईं थीं.

18. सौन्दर्या

सौन्दर्या दक्षिण भारत की एक मशहूर अभिनेत्री थीं और उन्होंने सूर्यवंशम फ़िल्म में अमिताभ बच्चन के बरअक्स नायिका की भूमिका भी निभाई थी जिसके लिए उन्हें ख़ासी सराहना मिली थी. हालांकि यह अभिनेत्री मात्र 31 वर्ष की उम्र में प्लेन दुर्घटना की शिकार हो गई थी.

19. नफीसा जोसेफ

सन् 1997 में मिस इंडिया यूनिवर्स का खिताब जीतने वाली और एमटीवी वीडियो जॉकी व सुपरमॉडल ने उस दौर के बिजनेसमैन गौतम खंडूजा से शादी की थी. जब उनकी शादी में कुछ खट-पट हुई तो इस मॉडल ने अपनी जान ख़ुद ही ले ली.

Source: zeenews

20. जतीन कनकिया

श्रीमान श्रीमती नामक फेमस टीवी शो और ख़ूबसूरत और हम साथ-साथ हैं जैसे सीरियल्स में अहम भूमिका निभाने वाले चश्मिश जतीन को दूरदर्शन के दौर में कौन नहीं जानता था. मगर वे सिर्फ़ 46 की उम्र में आंत के कैंसर की वजह से चल बसे.

21. जिया खान

हमारे दौर की सबसे उभरती हुई अदाकारा के तौर पर अपनी जगह बना रही जिया खान को वो सब-कुछ मिल रहा था जिसकी एक नई-नवेली अदाकारा कल्पना कर सकती है. अमिताभ बच्चन, आमिर खान और अक्षय कुमार जैसे अभिनेताओं के साथ फ़िल्मों में काम करना और नाम कमाना, मगर शायद नियति को यह मंजूर नहीं था और उनके ब्वॉय फ्रेंड सूरज पंचोली से खट-पट के बाद इस अदाकारा ने आत्महत्या कर ली. वे अभी मात्र 25 वर्ष की थीं.

Source: india