आपने सुना होगा लोग Common Admission Test (CAT) की तैयारी करने के लिए कई-कई घंटे पढ़ते हैं. लेकिन दिल्ली की छवि गुप्ता ने नौकरी करते हुए तैयारी की और पहले ही प्रयास में ये एग्ज़ाम क्रैक कर लिया. छवि ने इस परीक्षा की तैयारी नौकरी करते हुए ही की और 100 पर्सेंटाइल भी हासिल किये. वो इस परीक्षा में इतने अंक लाने वाली दो लड़कियों में से एक हैं.

CAT 2017 में 20 लोगों को 100 पर्सेंटाइल मिले हैं. 24 वर्षीय छवि IIT दिल्ली से BTech और MTech की डिग्री ले चुकी हैं. वो IIM अहमदाबाद या कलकत्ता में दाखिला लेना चाहती हैं.

वो बताती हैं कि समाज में आज भी लड़कों और लड़कियों को अलग तरह से ट्रीट किया जाता है. मसलन, अगर घर में लड़के पढ़ रहे हों, तो उन्हें जल्दी कोई डिस्टर्ब नहीं करता. वहीं, अगर लड़की पढ़ रही हो, तो उसे घर के कामों के लिए उठा दिया जाता है. ज़्यादातर लड़कियों की ग्रेजुएट होते ही शादी करा दी जाती है. वो खुद को ख़ुशनसीब मानती हैं कि उनका परिवार बेहद सपोर्टिव है. इसलिए वो यहां तक पहुंच पायी हैं.

वो एक बिज़नेस एनालिस्ट के तौर पर काम कर रही हैं, इस कारण उन्हें तैयारी के लिए ज़्यादा समय भी नहीं मिल पता था, वो वीकेंड्स में ही पढ़ाई करती थीं. उसी वक़्त वो कोचिंग भी जाती थीं.

पहाड़गंज में रह रही छवि की मां अंजू गुप्ता ने बताया कि उनके बच्चे एक सख़्त रुटीन फ़ॉलो करते हैं. चौथी कक्षा से छवि कॉम्पीटीशन की तैयारी कर रही थीं और उन्होंने अपने पहले प्रयास में ही IIT-JEE भी क्रैक कर लिया था.

ये छवि की सालों की मेहनत का ही असर है कि आज वो कई स्टूडेंट्स के लिए मिसाल बन गयी हैं.

Source: Hindustantimes