स्कूल में Geography में पढ़ा हुआ Niagara Falls of India याद है? चलिए, आज आपको उसी जगह ले चलते हैं, जिसे आपने किताबों के पन्नों में बंद कर दिया था. यहां की सुंदरता और रोमांच के बारे में पढ़ कर यहां जाने के लिये न ललचा गए तो कहिएगा.

छत्तीसगढ़ के बस्तर ज़िले में मौजूद चित्रकूट फॉल्स को ही Niagara of India कहते हैं. बस्तर ज़िले के जगदलपुर में इंद्रावती नदी पहाड़ों से गिरती है. ये 95 फ़ीट ऊंचा झरना आपकी नज़रें रोक कर रूह तक उतर जाने के लिए काफ़ी है.

जगदलपुर से 38 किलोमीटर दूर चित्रकूट Falls का रोमांच मॉनसून में अपने शबाब पर होता है.

300 मीटर चौड़े इस झरने की शक्ति, सुंदरता और रोमांच के Complete पैकेज की वजह से ही शायद इसे Niagara of India नाम दे दिया गया. झरने के नीचे की Sites घूमकर ही यहां का अद्भुत मज़ा लिया जा सकता है. ये मज़ा यहां के नाविक आपको बखूबी दिला देंगे.

घूमने का सबसे अनुकूल समय

चित्रकूट फॉल्स का आनंद लेने का सबसे सही वक़्त है जुलाई से अक्टूबर तक का महीना. इस समय इंद्रावती नदी उफ़ान पर होती है.

हालांकि, Photographers और Nature Lovers के लिए अक्टूबर से फरवरी का वक़्त ज़्यादा अच्छा होता है. इस समय फॉल ज़्यादा साफ़ दिखता है.

कैसे पहुंचे

यहां के लिए सबसे करीबी हवाई अड्डा छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में है. ये यहां से 284 किलोमीटर दूर है और टैक्सी से 5 घंटे में पहुंचा जा सकता है.

आप यहां ट्रेन से भी पहुंच सकते हैं. जगदलपुर रेलवे स्टेशन किरंडुल-विशाखापट्टनम रेल लाइन पर है. आपके पास विशाखापट्टनम तक की फ्लाइट लेकर फिर जगदलपुर पहुंचने का विकल्प है. जगदलपुर से चित्रकूट फॉल्स के लिए टैक्सी मिल जाती हैं.

वैसे यहां के लिए रोड ट्रिप भी कम रोमांचक नहीं है. दिल्ली से जगदलपुर 1450 किलोमीटर, यानि गाड़ी से 20 घंटे का सफ़र है. रास्ते में आपको ग्वालियर, झांसी और बालाघाट के जंगल मिलेंगे. तो करिये गाड़ी का जुगाड़ और निकल पड़िये सफ़र पर.

सैर-सपाटा

अगर आप दोपहर के ठीक पहले यहां पहुंचते हैं तो आप उन किस्मत वालों में होंगे, जो झरने के नीचे बनते-बिगड़ते इंद्रधनुष को देख पाएंगे. इसके अलावा आप इस अद्भुत सी जगह में पैडल बोटिंग और तैराकी का भी मज़ा ले सकते हैं. झरने के ऊपरी हिस्से पर नाविक आपके इस सैर को एक यादगार रोमांच में बदल सकते हैं.

वैसे तो चित्रकूट फ़ॉल्स से ही आपका जी नहीं भरेगा, लेकिन यहां कुदरत के और भी खजाने हैं जिनको देखे बिना आपको वापस नहीं जाना चाहिए. जगदलपुर से 36 किलोमीटर दूर तीरथगढ़ फॉल्स है. पास में ही स्थित कांगर वैली नेशनल पार्क की सैर भी आपकी इस ट्रिप के अनुभव को और भी खुशनुमा बना देंगे.

जगदलपुर से तीरथगढ़ के रास्ते में कुतुमसर गुफ़ाएं Explore करने के लिए थोड़ा ठहर जाइएगा. 1327 माटर लंबी ये गुफ़ा एशिया की सबसे बड़ी गुफ़ा कही जाती है. जून से अगस्त के बीच में यहां पानी भरा रहता है, लेकिन साल के बाकी दिनों में आप यहां घूम सकते हैं.

अगर आप कांगर वैली नेशनल पार्क जाते हैं, तो अंदर एक और रोमांच आपका इंतज़ार कर रहा है. वो है कैलाश गुफ़ा. स्थानीय लोगों के लिए ये गुफ़ा धार्मिक महत्व भी रखती है.

अब इंतज़ार किस बात का! मॉनसून भी आ ही गया है, यानि कि चित्रकूट फॉल्स पहुंचने का सबसे अनुकूल समय. बाकी आसपास की जगहें यहां आपको बता ही दी हैं. सोचिये मत, उठाइये फ़ोन और निकलने की तारीख तय कर ही लीजिये.

Article Source : Tripoto