उत्तरी भारत के हरियाणा और राजस्थान की 50 से अधिक महिलाओं ने शिकायत की थी कि किसी ने उन्हें बेहोश कर रहस्यमयी तरीके से उनके बाल काट लिए. इस "काल्पनिक हजाम" की पहली ख़बर जुलाई में राजस्थान से आई थी, इसके बाद इस तरह की ख़बरें हरियाणा और यहां तक कि राजधानी दिल्ली से भी आने लगीं. अब इससे जुड़ी एक अजीबोग़रीब घटना सामने आई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में “चोटी कटवा बाबा” की मूर्ति स्थापित की गई है. वाराणसी के बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में “चोटी कटवा बाबा” की मूर्ति लगाई गई है. दो दिनों के अंदर वाराणसी सहित आज़मगढ़, चंदौली ,जौनपुर में 100 से ज़्यादा औरतों की सोते समय चोटी कटने के घटनायें सामने आयी हैं.

इससे बचने के लिए कई टोटके भी किये गए. लोगों ने घर से बाहर नींबू-मिर्च भी टांगे, तो किसी ने जूड़े में भगवान की तस्वीर लगा ली. बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी के शॉपिंग मॉल ग्राउंड में पीपल के पेड़ के नीचे चोटी कटवा बाबा को स्थापित कर दिया गया है.

मूर्ति को लाल रंग में रंगा गया है, जबकि मुंह खुला हुआ है. इस मूर्ति के हाथ भी गायब हैं. इसके अलावा बाबा के सिर के ऊपर एक मटका टांग दिया गया है और पेड़ पर बोर्ड लगा कर लिख दिया गया है “चोटी कटवा बाबा”.

जबसे इस बात की जानकारी ग्रामीणों को हुई है, लोग चोरी-छिपे परिसर में आकर बाबा को माला-फूल पहना कर दिए जला कर, पूजा-पाठ कर रहे हैं. इस मूर्ति की फ़ोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.