सीबीएसई द्वारा 10वीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र की परिक्षायें दोबारा लेने की घोषणा के बीच सोशल मीडिया पर 12वीं के हिन्दी(Elective) और पॉलिटिकल साइंस के भी प्रश्न पत्र के लीक होने की बात भी सामने आ रही थी.

शनिवार को सीबीएसई ने सफ़ाई देते हुए कहा कि WhatsApp और YouTube पर जो प्रश्न पत्र वायरल हो रहे हैं, वो असली नहीं हैं.

India Today में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, सीबीएसई द्वारा 25 अप्रैल को 12वीं के अर्थशास्त्र की दोबारा परिक्षा लेने की घोषणा के अगले ही दिन फ़ेक प्रश्न पत्र वायरल होने लगे. 10वीं के गणित की दोबारा परीक्षा किस दिन होगी ये अभी तय नहीं है.

Source- NDTV

सीबीएसई ने छात्रों को आतंकित न होने की हिदायत दी और अफ़वाहों से सावधान रहने की अपील की. एचआरडी में स्कूल एजुकेशन के सेक्रेट्री ने ये भी बताया कि जो प्रश्न पत्र वायरल हो रहे हैं, वो पिछले साल के कंपार्टमेंट परिक्षा के प्रश्न पत्र हैं.

हिन्दी(Elective) और हिन्दी(Core) की परिक्षाएं 2 अप्रैल, 2018 को होगी.

सीबीएसई बोर्ड परिक्षाओं के कई प्रश्न पत्रों की लीक की ख़बरें सामने आ रही हैं और छात्रों के बीच भी डर का माहौल है. कई छात्र ये सवाल भी उठा रहे हैं कि जब उन्होंने चीटिंग नहीं की, तब वे रि-एग्ज़ाम क्यों दे?

Source- Malayalam Express

पेपर लीक की घटना में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अब तक 60 लोगों से पूछताछ की है और 2 केस दर्ज किए हैं.

NDTV की ख़बर के अनुसार 12वीं के अर्थशास्त्र के प्रश्न पत्र लीक करने के जुर्म में दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच ने 3 लोगों को गिरफ़्तार किया.