इंडियन क्रिकेटर मोहम्मद कैफ का क्रिकेट पिच पर कैसा भी दौर चल रहा हो, लेकिन इन दिनों सोशल मीडिया उनका बहुत ही बुरा वक़्त चल रहा है. फिर चाहे उनका सूर्य नमस्कार का ट्वीट हो या फिर बेटे के साथ शतरंज खेलते हुए फ़ोटो पोस्ट करना हर बार उनको सोशल मीडिया द्वारा ट्रोल ही किया गया है. और एक बार फिर वो सोशल मीडिया के निशाने पर आ गए हैं और इस बार उनको यूज़र्स द्वारा क्रिसमस डे सेलिब्रेट करते हुए फ़ोटो पोस्ट करने के लिए बुरी तरह ट्रोल किया जा रहा है.

उन्होंने सैंटा कैप पहनकर अपने परिवार के साथ फ़ैन्स को क्रिसमस की बधाई देने के ये फ़ोटो ट्विटर पर पोस्ट की थी. इस फ़ोटो में क्रिसमस ट्री भी दिख रहा है. लेकिन कट्टरपंथी सोच वालों को ये बात नागवार गुज़री. कुछ लोगों ने उनके ट्वीट पर कमेंट किया कि ये इस्लाम की ख़िलाफ़ है.

जहां कुछ लोग कैफ को ये फ़ोटो डालने के लिए ट्रोल कर रहे थे. वहीं कुछ लोग उनके सपोर्ट में भी उतरे और ट्रोल करने वालों को जवाब भी देने लगे. सोशल मीडिया के ज़्यादातर यूज़र्स ने कैफ को सपोर्ट किया और उनको क्रिसमस की बधाई भी दी.

यहां देखिये कि लोगों ने क्या-क्या भद्दी टिप्पणियां कीं कैफ़ के ट्वीट के बाद:

ट्विटर यूजर @MohdFasiuddin10 ने लिखा, 'मौला की कसम तू बड़ी ज़िल्लत से मरेगा, सभी फ़ॉर्मेट में फ़ेल क्रिकेटर.'

ट्विटर यूजर @leechercreature ने लिखा, 'तू शैतान की मौत मरेगा.'

ट्विटर यूजर @YunusAjmal ने लिखा, कैफ सर आप मुसलमान होकर Merry Christmas बोल रहे हो, शर्म आनी चाहिए आपको.'

ट्विटर यूजर @FarhatAbbaspak ने लिखा, '100000 लानत.'

कुछ टाइम पहले ही कैफ़ ने अपने बेटे के साथ शतरंज खेलते हुए फ़ोटो Facebook पर पोस्ट की थी, जिसके बाद भी उनको ट्रोल किया गया था. इस फ़ोटो को भी लोग धर्म से जोड़कर देख रहे थे.

इसी साल जनवरी में मोहम्मद कैफ़ ने सूर्यनमस्कार करते हुए फ़ोटो पोस्ट की थी, जिसके बाद उनको काफी ट्रोल किया गया था. सूर्यनमस्कार करते हुए कैफ ने 4 फ़ोटोज़ पोस्ट की थीं.

इसके बाद कैफ ने अपनी पोस्ट में लिखा था, 'इन चारों फ़ोटोज़ में मेरे दिल में अल्लाह का ही नाम है. मुझे समझ नहीं आता कि किसी भी तरह के व्यायाम या जिम में की जाने वाली एक्सरसाइज़ को धर्म के साथ कैसे जोड़ा जा सकता है. जबकि ये तो आपकी सेहत के लिए लाभदायक ही होती है.'

जब मोहम्मद कैफ़ ने 7 अगस्त, 2017 को टि्वटर पर रक्षाबंधन को लेकर एक ट्वीट किया था. मोहम्मद कैफ़ ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘हर महिला के साथ वैसा ही व्यवहार करिए जैसा आप खुद की बहनों के साथ करना चाहोगे. रक्षा बंधन की सभी को शुभकामनाएं.’

कैफ़ के इस ट्वीट पर कई यूजर्स ने प्रतिक्रियाएं भी दी.

उन्हें ट्रोल भी किया गया. कई यूज़र्स ने उनके रक्षाबंधन ट्वीट की तारीफ की थी तो कई लोगों ने उन्हें फतवे का डर भी दिखाया था.

मगर क्या सोशल मीडिया यूज़र्स को नहीं लगता कि अब बहुत हो गया, 2017 ख़त्म होने की कगार पर है, अब तो इस तरह के पोस्ट के लिए धर्म के नाम पर मोहम्मद कैफ को ट्रोल करना बंद कर देना चाहिए. हम एक धर्म निरपेक्ष राष्ट्र के नागरिक हैं, सबको अपनी भावनाएं व्यक्त करने का अधिकार है फिर चाहे वो हिन्दू धर्म का हो, ईसाई, सिख या फिर मुस्लिम धर्म का हो. क्यों एक इंसान के पीछे हाथ धो कर पड़ गए हैं ये सोशल मीडिया यूज़र्स?