'लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती कोशिश करने वालों की हार नहीं'.

ज़िंदगी के सफ़र में हर वक़्त एक सा नहीं रहता. उतार-चढ़ाव भरे इस जीवन में कई लोग हालातों से हार मान कर शांत बैठ जाते हैं, तो वहीं कई लोग ऐसे भी होते हैं, जो ग़म की तपिश में जल कर ख़ुद को लोहे सा फ़ौलादी बना लेते हैं.

ऐसे ही लोगों में शुमार हैं Matrimony.com के सीईओ और फ़ाउंडर Murugavel Janakiraman, जो बंगाल के एक छोटे से गांव से निकल कर 1900 करोड़ रुपये की कंपनी के मालिक बन बैठे. कहते हैं कि ग़म के बादल के छटने के साथ ख़ुशियों की बारिश ज़रूर होती है. दरअसल, साल 2000 में 'Y2K' संकट के समय नौकरी से हाथ धोने वाले Janakiraman गिर कर ऐसा उठे कि फिर उन्होंने फिर पीछे पलट कर नहीं देखा.

बीते सितंबर BSE की लिस्ट में शामिल होने वाली मिलियन डॉलर वाली Matrimony.com हर साल करीब 200,000 जोड़ों की शादी करवाती है. Matrimony Pvt Ltd भारत की सबसे बड़ी Matchmaking सर्विस है. इतना ही नहीं, दूसरों की जोड़ियां बनवाने वाले Janakiraman को उनका जीवनसाथी भी Matrimony.com से ही मिला था और आज दोनों ख़ुशहाल जीवन व्यतीत कर रहे हैं.

Janakiraman के पिता Dock में एक कुली का काम करते थे. तमिलनाडु के Royapuram के रहने वाले Janakiraman का बचपन काफ़ी ग़रीबी में गुज़रा था. यहां तक कि स्कूली शिक्षा के दौरान भी उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ा.

अपने बचपन को याद करते हुए वो कहते हैं कि 'मेरे पिताजी कक्षा पांच तक पढ़े थे और मेरी माता कक्षा 1 तक. हमारे गांव में शिक्षा ज़रुरी नहीं थी क्योंकि हमें जीने के लिए कमाना पड़ता था.'

बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि वो आगे की पढ़ाई करके लैब टेकनीशियन बनाना चाहते थे. लगन और मेहनत के साथ उन्होंने गणित में अच्छे नंबर हासिल किए, जिसकी वजह से उन्हें कंप्यूटर प्रोग्रामिंग की ओर आगे बढ़ने में मदद मिली. इसके बाद Janakiraman को 1996 में US में Consultant के तौर उन्हें जॉब मिल गई. Programming में अच्छी पकड़ होने के कारण खाली समय में उन्होंने Cyberspace से जुड़ी नई चीज़ें सीखना शुरू की.

Janakiraman कहते हैं कि अमेरिका में अच्छा जीवन गुज़र रहा था, लेकिन मैं वो इंसान हूं जो कभी संतुष्ट नहीं होता. मुझे अलग और नई चीज़ें करना अच्छा लगता है. वो आगे बताते हैं कि उनके लिए पैसा मायने नहीं रखता था. वो कुछ अच्छा करके कुछ बनना चाहते थे. 1997 में उन्होंने तमिल समुदाय के लिए एक वेबसाइट तैयार की, जिसमें Calendar, Festival Dates, Property Listings और Matrimonial जानकारियां दी हुई थी.

वो कहते हैं कि वेबसाइट को बूस्ट करने के लिए हमारे पास कोई फ़ंडिंग नहीं थी. हमने प्रति माह 10 यूएस डॉलर इंवेस्ट करना शुरू किया. पिछले 17 सालों में Yahoo, Mayfield और Canaan Matrimony.com पर 99 करोड़ रुपये इंवेस्ट कर चुकी हैं. ChristianMatrimony, MuslimMatrimony, SikhMatrimony, JainMatrimony को मिलाकर आज इसकी 300 वेबसाइट हैं, जो आने वाले समय में और भी बढ़ने वाली हैं. इसके साथ बिज़नेस को आगे बढ़ाते हुए हमने MatrimonyPhotography, MatrimonyBazaar और MatrimonyMandaps का काम भी शुरू किया है.

भविष्य की योजनाओं के बारे में पूछने पर वो कहते हैं कि कंपनी का अगला कदम BankBazaar, 99Acres और Naukri.com को टक्कर देना है. साल 2006 में कंपनी एक अच्छे मुकाम पर पहुंच चुकी थी और 2008 में कपंनी को हर महीने 2 करोड़ रुपये की इनकम हो रही थी. Janakiraman कहते हैं कि कंपनी का निर्माण एक बड़ी चुनौती से कम नहीं था.

400 मिलियन से भी अधिक इंटरनेट यूज़र Matrimony.com का इस्तेमाल करते हैं. Janakiraman का सपना है कि आने वाले टाइम में वो कपंनी को एक अरब डॉलर के मुकाम तक ले जाएं. वो कहते हैं कि उन्हें नहीं पता ये कब और कैसे होगा. आगे वो कहते हैं कि विवाह एक व्यवसाय है, ये कभी ठप्प नहीं पड़ता, फिर चाहे देश में मंदी का माहौल ही क्यों न हो.

2017 के मध्य तक 870,000 लोगों को वेबसाइट से जोड़ने वाला Matrimony.com अबतक 52,000 लोगों की सफ़लता पूर्वक शादी करा चुका है.

Source : moneycontrol