हमारे देश में एक ओर तो समानता और एकाधिकार की बड़ी-बड़ी बातें होती हैं, वहीं दूसरी ओर एक मासूम बच्ची के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है. वो भी सिर्फ इसलिए कि वो एक दलित है. इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली ये खबर मध्यप्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र के छतरपुर जिले से आ रही है, जहां ऊंची जाति के एक दबंग ने 6 साल की मासूम दलित बच्ची को हाथों से मलमूत्र उठाने के लिए मजबूर कर दिया.

Source: Representational Image

ये घटना बीते सोमवार की शाम की है, जब लवकुशनगर के गुधौरा गांव में शासकीय प्राथमिक पाठशाला में पहली कक्षा में पढ़ने वाली नत्थू अहिरवार की बेटी को विद्यालय में शौचालय न होने के कारण खाली स्थान पर शौच के लिए जाना पड़ा. खबरों के मुताबिक़, जब गांव के दबंग पप्पू सिंह ने बच्ची को देखा तो वो उसके ऊपर गुस्सा होने लगा और उसे उसी का मल उठाने के लिए कहा. घर जाकर बच्ची ने इस घटना की जानकारी अपने माता-पिता को दी. पीड़ित के परिजन और दलित समुदाय के अन्य सदस्य तुरंत लवकुशनगर पुलिस स्टेशन पहुंचे और पप्पू सिंह के खिलाफ़ शिकायत दर्ज कराई. थाना इंचार्ज Z.Y. Khan ने पप्पू सिंह के खिलाफ़ एससी/एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

पुलिस के अनुसार, इस मामले में पप्पू सिंह के खिलाफ़ ग़ैरक़ानूनी अनिवार्य श्रम, जानबूझकर अपमान, अशांति भड़काने का उद्देश्य और किशोर न्याय के प्रासंगिक कानूनों (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. फिलहाल मामले का आरोपी फ़रार है.

Feature Image only for Representational Use

Source: news1