1993 मुंबई बम धमाकों का मुख्य दोषी और डी-कंपनी का सरगना, दाऊद इब्राहिम की तलाश देश की पुलिस को सालों से है. कोर्ट के आदेशों के मुताबिक़ दाऊद की सारी संपत्ति भी जब्त कर ली गयी है, लेकिन एक बंगला आज-कल सुर्ख़ियों में है. रत्नागिरी के मुंब्के गांव में दाऊद इब्राहिम की पैतृक संपत्ति है, जिसमें एक 3 मंज़िला बंगला लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है.

Source: YouTube

इस बंगले को दाऊद के पिता, इब्राहिम कास्कर ने बनवाया था और डॉन को ये जगह बहुत पसंद है. इस बंगले पर पुलिस की खासी नज़र है और आस-पास के रहवासियों की भी. खैर, उनका कारण तो ये है कि नशेड़ी और प्रेमी युगल इस बंगले का उपयोग किसी और काम के लिए न करें. 'दाऊदचा बंगला' नाम से मशहूर ये घर 32 साल पहले बना था और स्पष्ट कारणों की वजह से अब सुनसान है. पुलिस कभी-कभी आकर यहां चेकिंग करने आ जाती है.

Source: YouTube

दाऊद की ज़िन्दगी की तरह ही इस बंगले के इर्द-गिर्द भी कई राज़ मंडराते हैं. स्थानीय लोगों का मानना है कि ये बंगला भुतहा है. 

रहवासी हूरा खड़स ने मुंबई मिरर को बताया कि 'इस बंगले के पास नहीं जाना चाहिए. मैंने कई लड़कियों को यहां से पागलों की तरह निकलते देखा है. उसने (दाऊद) यहां काला जादू करवाया हुआ है'. सना मुकादम कहती हैं कि 'दाऊद अभी भी यहां आता है, वो भी भेष बदल कर. पिछले हफ़्ते ही वो यहां आया था. ये उसका गांव है, उसका घर है और वो कई बार यहां आता है'.
Source: India

इन सब अफ़वाहों के बावजूद भी ये बंगला एक तरह का टूरिस्ट आकर्षण बना हुआ है. जो भी यहां आता है, इस बंगले के सामने फ़ोटो ज़रूर खिंचवाता है. सारी प्रक्रियाओं के बाद इस संपत्ति की नीलामी होगी इसलिए पुलिस और इस घर के प्रभारी ये ख़याल रखते हैं कि कोई भी अप्रिय घटना यहां न हो.

Source: TOI