ऐसा बहुत कम होता है कि हमारे साथ कुछ बुरा हो रहा हो और कोई हमारी मदद को आगे आए. हमेशा ऐसी ख़बरें या वीडियो ही सामने आते हैं जिनमें ये नज़र आता है कि किस तरह से सड़क पर पड़े किसी बेबस इंसान की मदद को कोई भी आगे नहीं आया और सही वक़्त पर इलाज न होने के कारण उस व्यक्ति की मृत्यु हो गई.

यही नहीं, कई बार तो रास्ते पर छेड़खानी होते लोग देखते हैं, पर नज़रें फेर लेते हैं. कोई आवाज़ नहीं उठाता, ये सोचकर की उन सब झंझटों में कौन पड़े?

ये सवाल कई बार हमारे सामने आया है कि लोग मूक दर्शक बनकर कैसे देख सकते हैं?

Source: Being Indian

लेकिन दिल्ली के कुछ बाइकर्स, मूक दर्शक नहीं बने और एक लड़की की ज़िन्दगी बचा ली.

घटना रात के करीब 9 बजे की है. कुछ बाइकर्स बेग़मपुर चौक के पास एक ढाबे पर खाना खा रहे थे और तभी उन्होंने तेज़ स्पीड में गुज़रती हुई एक Hyundai Accent कर देखी जिसमें से एक लड़की मदद के लिए चीख रही थी.

बाइकर्स ने गाड़ी का पीछा किया और ड्राईवर को कार रोकने पर मजबूर कर दिया. तब तक आस-पास वाले कुछ लोग भी वहां इकट्ठे हो गए और किडनैपर्स को मारने लगे और उनकी कार पर पथराव करने लगे.

Source: Bangalore Bikers

एक बाइकर अमन गोयल ने बताया,

'जब हमने उस लड़की को बचाया तब वो आधी बेहोश थी और सदमे में थी.'

पुलिस के घटनास्थल पर पहुंचने से पहले गुस्साई भीड़ ने गाड़ी में आग लगा दी.

Source: TOI

पुलिस ने लड़की से पूछताछ की, तो पता चला कि 1 किडनैपर को लड़की पहचानती थी इसीलिये उस लड़की ने उनसे लिफ़्ट ली. लेकिन कार में बैठने के कुछ देर बाद वो लोग उससे छेड़खानी करने लगे और उसके कपड़े भी फाड़ दिए. ये घटना शनिवार रात को घटी.

पुलिस ने 2 किडनैपर्स को तो पकड़ लिया पर 1 किडनैपर भागने में कामयाब हो गया. बाइकर्स की बदौलत एक मासूम ज़िन्दगी बच गई.

Source: Being Indian

Feature Image Source: Bangalore Bikers (For representative purpose)