दिल्ली पुलिस को अपनी पोस्टर गर्ल मिल गई है. जी हां, दिल्ली पुलिस ने पहली बार महिला पोस्टर के लिए अपनी कंंमाडो का इस्तेमाल किया है. दिल्ली पुलिस अब अपनी प्रमोशनल गतिविधियों के लिए पोस्टरों में स्टॉक फ़ोटो के बजाए, नागालैंड की रहने वाली चिवेल थेले की तस्वीर का इस्तेमाल करेगी.

दिल्ली पुलिस ने पिछले हफ़्ते एक पोस्टर जारी कर, लोगों से पुलिस का सहयोग करने की बात कही. जिससे वो जनता को अच्छी सेवा दे सकें. पोस्टर में पुलिस द्वारा सहयोग करने की अडवाइज़री और अपील के साथ ही थेले की AK-47 से लैस तस्वीर छपी है. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक, 'अब तक हम अपने कमांडो की तस्वीर के बजाए, पोस्टरों में पुरानी स्टॉक फ़ोटो का इस्तेमाल करते थे. थेले के चयन के बारे में बात करते हुए अधिकारी ने बताया, 'हमने थेले को इसलिए चुना क्योंकि वो अपने बैच में सर्वश्रेष्ठ हैं और ट्रेनिंग के दौरान उसने सारी गतिविधियों में बेहतरीन प्रदर्शन किया.'

हालांकि, थेले को अपने इस सलेक्शन के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. थेले ने बताया, 'मुझे नहीं पता कि मुझे क्यों चुना गया है. मुझे सीधे फ़ोटोशूट के लिए बुला लिया. इसके बाद जिस दिन पोस्टर जारी हुआ तो मेरे सहकर्मियों और दोस्तों के फोन आने शुरू हो गए. मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं कभी दिल्ली पुलिस का चेहरा बनूंगी.'

थेले बताती हैं कि वो नेशनल लेवल की तीरंदाज़ रह चुकी हैं और पहले उन्हें ऐसा लगता था कि तीरंदाज़ी प्रतियोगिता में अच्छा करने पर मुझे प्रसिद्धि मिलेगी, लेकिन ऐसा कभी नहीं हो पाया. हालांकि तीरंदाजी की वजह से ही राइफ़ल शूटिंग में मुझे काफ़ी आसानी हुई. पुलिस फ़ोर्स जॉइन करने से पहले मैंने कभी राइफ़ल को हाथ नहीं लगाया था, लेकिन मैं अपने बैच की बेस्ट राइफ़ल शूटर हूं.'

Source : timesofindia