ये एक अच्छी ख़बर कि दक्षिण कोरिया ने हमारे देश भारत की राजधानी के दिल्ली रेलवे स्टेशन को विश्व स्तरीय बनाने के लिए हाथ आगे बढ़ाया है. आपको बता दें कि रेलवे की इस महत्वाकांक्षी योजना के अन्तर्गत दिल्ली रेलवे स्टेशन को वर्ड क्लास बनाने में लगभग दस हजार करोड़ रुपये की लागत आएगी. इसके कायाकल्प के बाद यात्रियों को बेहतरीन और सर्वश्रेष्ठ सुविधाएं दी जाएगी और साथी ही उनके लिए खरीददारी की सुविधा भी होगी.

Source: dailymail

गौरतलब है कि हर दिन नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पांच लाख से भी ज्यादा यात्री आते हैं. इस स्टेशन पर पूरे दिन में करीब 361 रेलगाड़ियां आती हैं. आपको बता दें कि इस योजना के तहत इस तीन मंजिला स्टेशन इमारत में प्रस्थान और आगमन के लिए अलग-अलग सेक्शन होंगे. इतना ही नहीं स्टेशन के अजमेरी गेट की ओर व्यावसायिक इस्तेमाल के लिए तीन गगनचुंबी इमारतें भी बनायी जायेंगी.

Source: ndtv

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'दक्षिण कोरिया ने नई दिल्ली स्टेशन के पुनर्विकास और उसका कायाकल्प करने के लिए उत्सुकता दिखायी है. दक्षिण कोरिया की टीम ने रेल मंत्रालय को बताया है कि अजमेरी गेट की तरफ खाली जमीन का व्यावसायिक इस्तेमाल किया जाएगा. साउथ कोरिया के इस प्रस्ताव के बाद रेलवे ने स्टेशन में और उसके आस-पास खाली पड़ी ज़मीन का व्यावसायिक इस्तेमाल करने से होने वाले लाभों की संभावनाओं को देखा और परखा, उसके बाद ही दक्षिण कोरिया रेलवे को संभावित लेआउट के साथ विस्तार में अपनी पूरी योजना का ब्योरा दिया.'

रेल मंत्रालय ने देश के कुल 400 स्टेशन्स का पुनर्विकास करने की योजना बनाई है. इसके तहत सबसे पहले आनंद विहार व बिजवासन स्टेशन का विकास होना है. नई दिल्ली रेलवे स्टेशन का कायाकल्प इसी का हिस्सा है. इसके योजना के लिए रेलवे स्टेशन व उसके आस-पास की 2200 एकड़ ज़मीन का इस्तेमाल करने की घोषणा की गई. पहले चरण में बिजवासन, आनंद विहार, अमृतसर, चंडीगढ़, फरीदाबाद, जम्मू-तवी सहित 23 रेलवे स्टेशनों को विश्व स्तरीय सुविधा से लैस करने का एलान रेलवे ने किया.

Source: dailymail

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि योजना के तहत स्टेशन पर डिजिटल साइनेज, स्वचालित सीढ़ियां और लिफ्ट, ऑटोमेटिक सेल्फ टिकट काउंटर, एग्जिक्यूटिव लाउंज और यात्रियों के लिए कई अन्य सुविधाएं होंगी.

कुछ ऐसा दिखेगा दिल्ली रेलवे स्टेशन.

साउथ कोरिया के प्लान के अनुसार, यात्रियों के लिए वेटिंग लॉबी भी बनायी जाएगी, जो फर्स्ट फ्लोर पर होगी. इसके अलावा प्लेटफॉर्म से बाहर निकलने के लिए लिफ्ट और एस्केलेटर्स लगाये जायेंगे. बिल्डिंग के दूसरे माले पर रेलवे के ओफ़फिसेज़ होंगे.

तो दोस्तों तैयार हो जाइये, रेलवे स्टेशन पर एयरपोर्ट होने जैसा अनुभव लेने के लिए.

Feature Image Source: dailymail

Source: topyaps