अंधविश्वास और ख़बरों का बहुत बड़ा साथ रहा है. जब भी कोई अजीब ख़बर बाज़ार में आई है, उसके बाद तो जैसे पूरा देश उस ख़बर की चर्चा कर अंधविश्वास को बढ़ावा देता दिख जाता है. इस बार भी यही हाल हुआ है चोटी कटने वाली ख़बर पर.

बिहार और यूपी में कई जगहों से महिलाओं की चोटी कटने की ख़बरें आई. कई जगह तो यहां तक सुनने में आया कि जिस महिला की चोटी कटी है, उसकी मौत हो गई. लेकिन इस बार का मामला बिहार या यूपी का नहीं, बल्कि दिल्ली का है.

Representational Image: HT

दिल्ली के संजय गांधी झुग्गी की ये ख़बर जितनी हैरान करने वाली है उससे कहीं ज़्यादा मज़ेदार भी. यहां एक 14 साल की लड़की जब सो कर उठी, तो उसकी चोटी कटी हुई थी. ये ख़बर पूरे मौहल्ले में आग की तरह फैल गई. हर कोई अलग-अलग बातें करने लगा.

पुलिस को आनन-फ़ानन ख़बर दी गई. पुलिस के लिए भी ये हैरान करने वाली ख़बर थी. समस्या ये थी कि अभी तक बिहार और यूपी से आने वाली ख़बर, दिल्ली में हक़ीक़त बन कर सामने थी. पुलिस ने बिना वक़्त गंवाए जांच शुरू की.

लेकिन जांच के बाद पता चला कि ये एक मज़ाक था, जो उस लड़की के दो भाईयों ने किया था. इन दोनों भाईयों की उम्र 10 और 12 साल थी. जैसे से ही ये सच सामने आया तो पुलिस ने राहत की सांस ली.

Representational Image: HT

पुलिस ने इस केस को बंद करने से पहले लड़की के माता-पिता से लिखित में पूरा मामला लिया है. ऐसी अंधविश्वास वाली ख़बरों को बच्चों से दूर रखें. कहीं आपके साथ भी कोई ऐसा मामला न हो जाए.

Source: HT