भारत एक ऐसा देश जहां एक नहीं, दो नहीं बल्कि कई धर्मों के अनुयायी बसते हैं. भारत में बसने वाले प्रेम और सौहार्द्र की गाथाएं प्राचीन काल से प्रसिद्ध हैं. लेकिन देश की राजधानी और हिंदुस्तान का दिल कही जाने वाली दिल्ली में बीते रविवार हुई घटना आज कई सवाल खड़े कर रही है. क्या देश और देश के नागरिकों में संवेदनशीलता ख़त्म हो चुकी है, क्या लोगों का खून पानी हो गया है? क्या इंसान के लिए इंसान की ही जान का कोई मोल नहीं रहा? ये कुछ ऐसे सवाल हैं, जो शायद हम सबके मन में तो आते होंगे, लेकिन इनका जवाब हम ढूंढना ही नहीं, चाहते हैं.

ये घटना दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके की है, जहां गोलगप्पे का ठेला लगाने वाले एक युवक की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गई. घटना बीते रविवार रात 11:30 बजे की है, जब वो अपना गोलगप्पे का ठेला लेकर घर वापस लौट रहा था, तभी रास्ते में नशे में धुत 5 व्यक्तियों ने गोलगप्पे खाने के लिए उसको रोका. लेकिन युवक ने गोलगप्पे का सामान पूरा न होने की वजह से गोलगप्पे खिलाने से मना कर दिया. बस इतनी सी बात थी और उन पांचों युवकों ने चाकू से उसके ऊपर वार करने शुरू कर दिए और उसकी हत्या कर दी. चीख-पुकार सुनकर लोग जब तक जमा होते, सभी हमलावर फ़रार हो चुके थे. वारदात की सूचना मिलते ही, लोकल पुलिस घटना स्थल पर पहुंच गई. पुलिस ने मंगोलपुरी पुलिस स्टेशन में हत्या का केस दर्ज किया है औरआरोपियों की तलाश के लिए जगह-जगह छापे मार रही है.

Source: hindustantimes

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, रविवार रात लगभग 11.30 बजे पिता-पुत्र घर लौट रहे थे. राधेश्याम अपनी रेहड़ी लेकर आगे चल रहा था, जबकि राजू पीछे-पीछे आ रहा था. राधेश्याम ने घर पहुंचने के बाद देखा तो राजू उनके पीछे नहीं था. वह जब लौटे तो देखा कि कुछ युवक राजू पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर रहे थे. उन्हें देख हमलावर भाग निकले. इन 5 युवकों ने राजू से गोलगप्पे खिलाने के लिए ज़बरदस्ती की और जान राजू ने मना कर दिया तो उन लोगों ने उसको मारना-पीटना शुरू कर दिया. उनमें से एक ने चाकू निकाला और राजू पर तब तक वार करता रहा, जब तक कि वो ज़मीन पर नहीं गिरा.

Source: oneindia

युवक को संजय गांधी मैमोरियल हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. डॉक्टर के अनुसार, हमलावरों ने उस पर चाकू से 18 बार वार किये थे. पुलिस के अनुसार, मंगोलपुरी के आई ब्लॉक में रहे वाले मृतक का नाम राजू था और वो 24 साल का था. वो अपने पिता के साथ ही गोलगप्पे का ठेला लगाता था. सूत्रों के अनुसार, ये घटना मृतक के घर के पास ही हुई थी.

Source: oneindia

हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने पांचों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है. इन आरोपियों में 3 बालिग़ और 2 नाबालिग हैं. इन सभी ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया है. इन तीन बालिग़ आरोपियों के नाम क्रमशः गोगी (22), अनिल (28) और निखिल (24) हैं. ये सभी आरोपी भी मंगोलपुरी इलाके के ही रहने वाले हैं.

Feature Image Source: mzansilive