कहते हैं देने वाला जब भी देता है, तो छप्पड़ फाड़ कर देता है, पर इस बार भगवान ने एक पादरी को ज़मीन चीर कर दिया है. एक पादरी Sierra Leone Mines में काम कर रहा था, तभी उसे 706 कैरट का हीरा मिल गया. जी हां, सही सुना आपने पूरे 706 कैरट का असली हीरा. बताया जा रहा है कि Emmanuel Momoh नाम के पादरी को जो हीरा मिला है, वो विश्व का दसवां सबसे बड़ा हीरा है. इसकी कीमत का अनुमान 5 करोड़ अमेरिकी डॉलर लगाया गया है.

एक सरकारी अधिकारी के अनुसार, इस हीरे को पारदर्शी प्रणाली के तहत बेचा जायेगा, ताकि इससे देश को भी फ़ायदा हो.

डायमंड विशेषज्ञ Paul Zimnisky का कहना है कि अब तक धरती के गर्भ से जितने भी रत्न निकले हैं, ये उन सबमें 10वां या 15वां सबसे बड़ा रत्न हो सकता है. एक छोटे से खादान में इतने बड़े रत्न का मिलना, बहुत दुर्लभ है.

अभी तक जितने भी बड़े-बड़े रत्न निकाले गये हैं, वो पहले से ज्ञात जगहों पर खुदाई के बाद मिले हैं और उसके लिए कई आधुनिक तकनीकों का भी सहारा लिया गया था, जबकि हमारे केस में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है. कारीगर जब हाथ से हीरे निकालते हैं, तो इस दौरान कई हीरे टूट भी जाते हैं. ये नायाब हीरा देश से बाहर बेचा जाएगा, ताकि इसे बढ़िया ख़रीददार मिलें.

Zimnisky के कहा, "25 कैरट का हीरा 20 से 30 लाख डॉलर में आसानी से बिक जाता है, तो आप खुद ही सोचिये 706 कैरट वाले इस हीरे की क्या कीमत क्या होगी."

आपको बता दें कि 2015 में Botswana में मिला 1111 कैरट का हीरा इस शताब्दी की सबसे बड़ी खोज है. इससे बड़ा रत्न 1905 में मिला था, जो 3,106 कैरट का था. ये ख़ास Cullinan Diamond अभी भी केपटाउन म्युज़ियम में है.

बहुत पहले से ही Sierra Leone की हीरा व्यापार में विवादित भूमिका रही है. 1990 में अफ्रीका में सिविल वॉर के समय इस देश पर हीरे से तानाशाही को बढ़ावा देने का भी आरोप लगा था. इसके बाद कई बागियों ने यहां की खादानों को लूट लिया और लाइबेरिया के रास्ते उसके बाहर ले गये. उस समय मरने वालों की संख्या 120,000 तक पहुंच गयी थी. अब यहां स्थिति थोड़ी सामान्य हो गई है, देखना यह होगा कि इस हीरे से देश का क्या फ़ायदा होता है.

Source: Dailymail