'छोटा परिवार, सुखी परिवार'

आज कल की जनरेशन इसी बात पर विश्वास रखती है, लेकिन यहां मुद्धा छोटे और सुखी परिवार का नहीं, बल्कि इस बात का है कि क्या कोई महिला 69 बच्चों को जन्म देने में सक्षम है?

रिपोर्ट के मुताबिक, 1725 और 1765 के आस-पास Moscow में Feodor Vassilyev की पहली पत्नी ने 69 बच्चों को जन्म दिया था. बताया जाता है कि उन्होंने 16 जोड़ी जुड़वा, Triplets के सात सेट, Quadruplets के चार सेट मिला कर कुल 69 बच्चों को जन्म दिया था. ये मामला अपने आप में गंभीर होने के साथ-साथ और रोमांचित करने वाला भी है. इसी बारे में जब Johns Hopkins University के Reproductive Science and Women’s Health Research के डायरेक्टर James Segars से बात की गई, तो उन्होंने कहा कि 'क्या 60 से अधिक बच्चों को जन्म देना संभव है? ये काफ़ी आश्चर्यचकित कर देने वाली बात है.'

अगर देखा जाए, तो 40 की उम्र तक गर्भधारण करना संभव हो सकता है. Mrs. Vassilyev का 18 साल की उम्र से लेकर 40 साल तक, 69 बच्चों को जन्म देना मुमकिन हो सकता है, लेकिन क्या ये आज के दौर में किसी महिला के लिए संभव है? Stanford School Of Medicine में Obstetrics And Gynaecology की एसोसिएट प्रोफ़ेसर Valerie Baker का कहना है कि 'Menopause से पहले महिलाओं की प्रजनन क्षमता कम हो जाती है, इसीलिए 45 की उम्र तक महिला के पीरियड्स होने पर उसके गर्भधारण करने संभावना लगभग एक प्रतिशत ही रहती है.'

वहीं इस पर Segars का कहना है कि 'अमूनन 42-44 तक की उम्र में महिलाएं प्रेग्नेंट नहीं होती, लेकिन 40 के दशक के आस-पास ऐसा संभव था.' हांलाकि, हर गर्भावस्था के साथ महिला के गर्भवती होने की क्षमता घटती जाती है और ऐसे में जब उस पर शारीरिक बोझ हो, तब और भी ज़्यादा. Baker के कहते हैं कि प्रकृति की अपनी एक सीमा होती है और गर्भवस्था शारीरिक रूप से सबसे कठोर चीज़ है.

विकसित देशों में आधुनिक उपकरणों के आने से सीज़िरियन बेबी के नाम पर महिलाओं को थोड़ी राहत मिली है, लेकिन आज डिलीवरी के वक़्त मरने वाली महिलाओं का आंकड़ा कम नहीं हुआ है. वहीं Segars का कहना है कि 'Vassilyev का 27 बार गर्भधारण करना थोड़ा मुश्किल सा लगता है, क्योंकि उस दौर में किसी महिला का मां बनना ख़तरे से खाली नहीं था.' इसके अलावा Tilly कहते हैं कि 'पहले के ज़माने में गर्भवस्था और प्रसव एक बहुत ही जटिल कार्य था.'

बच्चों के जन्म को लेकर किये गए इस शोध में ये भी पाया गया कि पुरुष अपने पूरे जीवनकाल में हर रोज़ करीब लाखों शक्राणु पैदा करता है, जिसका मतलब है कि उसके बच्चे पैदा करने की कोई सीमा नहीं है.

कुछ वैज्ञानिकों का ये भी कहना है कि क्या कोई महिला सच में 69 बच्चों को जन्म देना चाहेगी. इसके अलावा क्या एक ही घर में इतने बच्चों का एक साथ रहना संभव है. Tilly का कहना है कि जब बात पुरुष और महिला की प्रजनन क्षमता की आती है, तो वहां सारे शोध ख़त्म हो जाते हैं, क्योंकि दोनों की प्रजनन क्षमता असीमित है.

आप इस शोध से कितना सहमत हैं और कितना असमहत बताइयेगा ज़रूर!

Source : BBC