हमे​शा की तरह इस बार भी Dominos ने खुशियों की होम डिलीवरी की, पर ये ​Pizza नहीं था. एक परिवार के लिए ये वो खुशी थी, जिसका कोई पैमाना ही नहीं है. Dominos के दो Delivery Boys ने एक पांच साल के बच्चे को उसके घर पर पहुंचाया, जिसे Carjacker रास्ते में फेंक गए थे.

बीते मंगलवार रात करीब 10:30 बजे पंचकुला, पंजाब के रहने वाले मनीष कुमार अपनी पत्नी और पांच साल के बच्चे के साथ सेक्टर 20 मार्केट गए ​थे. मनीष वहां आइसक्रीम लेने जैसे ही उतरे, बंदूक धारी कार चोर उनकी कार लेकर भागने लेगे. मनीष की पत्नी जो आगे बैठी थी, वो बाहर कूद गई पर बच्चा पिछली सीट पर रह गया.

Carjackers करीब 10:45 बजे ज़िरकपुर सेक्टर 20 मार्केट के पास पहुंचे जहां उन्होंने Dominos आउटलेट के बाहर बच्चे को फेंक दिया और भाग गए. Dominos के एक कस्टमर ने वहां मौजूद डिलीवरी बॉय सुरिंदर सिंह और हरप्रीत सिंह को ये बताया, तो वो भाग कर बच्चे को अंदर ले आए. आस-पास के लोग बच्चे को नहीं पहचानते थे. बच्चा अपने घर का पता नहीं बता पा रहा था. उन्होंने देखा कि उसके ​हाथ में उसके पापा की पास बुक थी. दोनों ने जांच करते हुए देखा कि उसमें उसके पिता का फ़ोन नंबर था. फ़ोन मिलाया गया तो वो उपलब्ध नहीं था. दोनों ने दिमाग दौड़ाते हुए Dominos के कस्टमर डाटा में वो नंबर खोजा. उन्होंने पाया कि पंचकुला सेक्टर 20 के Dominos आउटलेट से उन्होंने Pizza खरीदते वक़्त वो नंबर रजिस्टर कराया था, जहां से उन्हें उसके पिता का नाम पता चला.

इसके बाद दोनों उस बच्चे को सेक्टर 20 पुलिस स्टेशन ले गए, जहां उन्हें बच्चे के माता-पिता मिल गए.

सुरिंदर ने कहा कि-

हम Pizza तो रोज़ डिलीवर करते हैं. पर इस बच्चे को उसके मां बाप से मिलाना काफ़ी संतोषजनक था.

Source- Chandigarhx