अगर आपने कभी ध्यान दिया होगा तो फ्लाइट अटेंडेंट मुस्कान के साथ आपको चाय और कॉफ़ी सर्व करते हैं, लेकिन खुद कभी नहीं पीते. इसके पीछे ये कारण नहीं है कि उन्हें इसकी अनुमति नहीं है. कारण तो कुछ और ही है...

बात ऐसी है कि प्लेन में मिलने वाली चाय और कॉफ़ी, फ्लाइट के ही पानी से बनती है. और इस पीने के पानी में भारी मात्रा में बैक्टीरिया होते हैं!

एक रिपोर्ट के अनुसार, एयरलाइन के वॉटर टैंक में भारी मात्रा में मैल पाया जाता है. टेस्ट करने पर ज्ञात हुआ कि कई हवाई जहाजों के पानी में Pasteurella pneumotropica and Pseudomonas नाम के बैक्टीरिया पाये गए हैं जो कि अत्यंत प्रतिरोधी और संक्रामक होते हैं. एयरलाइन में जहां भी पानी उपयोग में लाया जाता है वो इस वॉटर टैंक से उपलब्ध होता है, चाहे वो आपकी चाय हो या फिर बाथरूम का पानी.

ये है कि फ्लाइट में पीने के लिए आपको मिनरल वॉटर मिलता है, लेकिन अगर ये पानी ख़त्म हो जाए तो क्रू आपको प्लेन का पानी देता है.

अब बताओ, अगली बार प्लेन में चाय या कॉफ़ी पियोगे?