दिल्ली पुलिस ने एक आदमी को गिरफ्तार किया है, कथिततौर पर जिसने पहले अपनी 1 साल की बेटी का अपहरण किया और उसके बाद उसे साउथ दिल्ली के जामिया नगर इलाके के एक नाले में फेंक दिया था. ये घटना बीते मंगलवार की है, जब नशे में धुत इस बाप ने अपनी बेटी की जान ले ली. पुलिस ने बताया कि बच्ची का शव करीब 56 घंटे बाद गुरुवार को निकाला गया था.

Source: babycenter

डिप्टी कमिश्नर ऑफ़ पुलिस, रोमिल बानिया ने कहा, अभियुक्त जिसका नाम राशिद जमाल है, नशे में था और अपनी बेटी के लगातार रोने पर उसे गुस्सा आ गया था. इसी बात पर उसकी अपनी पत्नी के साथ बहस हो गई जिसके बाद उसने अपनी बेटी को उठाया और घर से निकल गया. इसके साथ ही पुलिस ने बताया कि इसी दौरान जब राशिद की पत्नी मोफिदा बेगम परिवार के सदस्यों और पड़ोसियों से मदद मांग रही थी, तब तक अभियुक्त ने बच्ची को नाले में फेंक दिया था.

दिल्ली पुलिस ने आरोपी को उसी नाले के पास से गिरफ्तार किया, जहां उसने बेटी को फेंका था. उसके परिवार के सदस्यों और पड़ोसियों ने उसको वहीं घेर लिया था, ताकि वो कहीं भाग न सके.

रोमिल बानिया के अनुसार, जामिया नगर पुलिस को मंगलवार को ही एक लड़की के कथित अपहरण के बारे में बताया गया था. तुरंत ही एक सब-इंस्पेक्टर नाले पर पहुंच गया, जहां उसने अन्य स्थानीय लोगों के साथ बच्ची कीमां से पूछताछ की. जमाल भी नशे की हालत में मौका-ए-वारदात पर ही मिला था. वहां मौजूद स्थानीय लोगों ने उसे खूब मारा-पीटा था.

Source: pixabay

घटना स्थल पर मौजूद भीड़ ने राशिद पर आरोप लगाया कि उसने नशे की हालत में अपनी 1 साल की बेटी को नाले में फेंककर मार डाला. डीसीपी ने कहा कि जब पुलिस ऑफ़िसर ने राशिद से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म क़ुबूल कर लिया. पुलिस ने राशिद के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया था.

उसके बाद तुरंत ही फ़ायर डिपार्टमेंट और एनडीआरएफ से बचाव दल और गोताखोरों को घटनास्थल पर बुलाया गया और बच्ची की खोज शुरू की गई. बुधवार और गुरूवार तक बच्ची की खोज होती रही, क्योंकि तब तक बच्ची की बॉडी नहीं मिली थी. 56 घंटो से भी ज़्यादा समय तक ढूंढन के बाद गुरुवार को ही बच्ची के मृत शरीर को नाले से निकाला जा सका. पुलिस के अनुसार, उन्होंने अब FIR में अपहरण के साथ हत्या का मामला भी दर्ज कर लिया है. बच्ची के शरीर को पोस्टमॉर्टम के लिए सरकारी अस्पताल भेजा गया है.

Source: HT