ये कहना बहुत शर्मनाक है, लेकिन हर मिनट होती रेप की घटनाओं की वजह से ही दिल्ली को रेप कैपिटल का दुर्भाग्यपूर्ण दर्जा दिया गया है.

25 फरवरी को ऐसा ही एक और रेप का मामला सामने आया, जब DU में पढ़ने वाली एक 20 साल की लड़की के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है. मामला लाजपत नगर पुलिस स्टेशन में दर्ज हुआ है, गैंगरेप में 5 लोगों का नाम सामने आया है, जिसमें उसके दोस्त भी शामिल हैं. पुलिस ने पांचों अपराधियों की पहचान कर उन्हें गिरफ़्तार कर लिया है.

विक्टिम ने पुलिस को बताते हुए कहा, कि उसके दो दोस्त, गौरव और सनी उसे अपने साथ बाइक पर बैठा कर फरीदाबाद ले गए. शुरू में उसे ठीक नहीं लग रहा था, तो उन्होंने कहा कि उनकी एक फीमेल दोस्त भी साथ आएगी और एक दोस्त और भी है. उनमें से एक लड़के ने उसकी वीडियो भी रिकॉर्ड की.

जिस बाइक में वो फरीदाबाद गयी, वो किसी सचिन नाम के लड़के की थी. ये लड़के बाद में उसे फरीदाबाद में किसी रोहताश के घर ले गए, जहां गौरव,सनी, रोहताश और सचिन ने उसका रेप किया. उसका बलात्कार करने के बाद, उन्होंने उसे धमकाना शुरू कर दिया कि वो किसी को इस बारे में नहीं बताएगी.

विक्टिम को वापस दिल्ली छोड़ने वाले आदमी ने भी एक सुनसान जगह गाड़ी रोक कर उसका रेप किया. विक्टिम ने काफ़ी समय तक ये बात अपने माता-पिता से छुपा कर रखी और इस दुखद हादसे के सदमे की वजह से उसने अपने लेक्चर मिस किये.

पकड़े गए अपराधियों में उसके कॉलेज के ही लड़के हैं, इन सभी को IPC की धारा 376D, 120B, 506 के तहत केस दर्ज किया गया है.

इस घटना ने एक बार फिर वही सवाल खड़ा कर दिया है, अगर दोस्त भी दोस्ती तोड़ने लगें, तो भरोसा किस पर किया जाए?

Source: news18

Featured Image has been used for representational purpose only