केरल में रहने वाले एन. रमेश कुमार ने अपनी स्वर्गवासी पत्नी की याद में एक मार्मिक फ़ेसबुक पोस्ट लिखा, कि कैसे उसकी पत्नी ने अपनी अंतिम इच्छा को पूरा करके ही अपने प्राण त्यागे. ये घटना पिछले साल अक्टूबर की है.

केरल के पलक्कड़ ज़िले के निवासी रमेश ने लिखा कि उसकी पत्नी अचु कैंसर से पीड़ित थी. उसका कीमोथैरेपी से इलाज चल रहा था. अपने अंतिम दिनों में उसने इच्छा ज़ाहिर की थी कि वो मरने से पहले अपने हीरो संचिन तेंदुलकर को देखना चाहती है.

रमेश ने अख़बार में देखा कि सचिन अपने टीम केरला ब्लास्ट का मैच देखने के लिए कोच्ची आने वाले हैं. अचु ने रमेश से कहा, 'मैं मौत से नहीं डरती, क्या तुम मुझे वहां ले चलोगे ?' ये मैच 6 अक्टूबर को कल्लूर अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में होने वाला था.

मैच में कुछ ही दिन बचे थे, उसने किसी तरह दोस्तों की मदद से टिकट का जुगाड़ किया. स्टेडियम के भीतर भी चार दोस्त मदद करने के लिए गए थे. स्टेडियम के बाहर एक एंबुलेंस तैयार खड़ी थी. पूरे इंतज़ाम में पुलिस ने भी सहायत की.

मैच शुरू होने के थोड़ी देर बाद वो वक्त आ गया. रमेश लिखते हैं, 'सचिन-सचिन की आवाज़ सुन हम अपनी दिन भर की थकान भूल गए, अचु उस दिन सबसे ख़ूबसूरत दिख रही थी.

मलयालम में लिखे पोस्ट में रमेश ने स्टेडिमय में ली सेल्फ़ी भी लगाई है. इसमें कीमोथेरेपी की वजह से अचु ने टोपी लगा रखी थी.

रमेश ने कहा कि उसने ये पोस्ट किसी की सहानभूती पाने के लिए नहीं लिखी है. वो इस पोस्ट के ज़रिए ये संदेश देना चाहते हैं कि चाहे जैसी भी परिस्थिति हो, हमें उसका सामना करना चाहिए, मौत के डर से जीवन का साथ नहीं छोड़ना चाहिए.

Source: hindustantimes