लंबी रोड ट्रिप पर जाने का मन तो सबका करता है, खासकर युवा तो घूमने फिरने में बेहद दिलचस्पी रखते हैं. घूमने के शौक़ीन लोग अकसर पूरी दुनिया नाप डालने के सपने देखते हैं. लेकिन उनके पास कभी वक़्त नहीं होता, तो कभी पैसे नहीं होते हैं. जब तक ये दोनों चीज़ें लोगों के पास साथ आती हैं, तब तक घूमने-फिरने की उम्र ख़त्म हो चुकी होती है. लेकिन, मुम्बई के इस दंपत्ति ने साबित किया है कि घूमने का जुनून हो, तो उम्र एक संख्या के अलावा कुछ भी नहीं होती.

74 साल के बद्री बलदावा अपनी 63 साल की पत्नी पुष्पा के साथ मुम्बई से लंदन ड्राईव कर के पहुंचे. इसमें उन्होंने 19 देशों से गुज़र कर लगभग 22,200 किलोमीटर का सफ़र तय किया है. इस सफ़र में उनके साथ उनकी दस साल की पोती भी थी.

बद्री पूरी तैयारी के साथ इस ट्रिप पर निकले थे. कहां-कहां घूमना है, किस रूट से जाना है, कहां ठहरना है जैसे सभी सवालों को पहले ही देख लिया गया था. इसमें उनकी सहायता दिल्ली में रहने वाले उनके कुछ दोस्तों ने की और पूरी प्लानिंग करने में करीब एक साल का वक़्त लगा.

उन्होंने यात्रा की शुरूआत इसी साल 23 मार्च को अपनी BMW X5 के साथ इंफाल से की और म्यांमार के रास्ते चीन, थाईलैंड, रूस होते हुए लंदन पहुंचे. उन्होंने द हिन्दू से कहा कि उनके पास इसी रूट का विकल्प था. दूसरे रूट में उन्हें पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान होते हुए जाना पड़ता. बद्री ने कहा कि फिर इस बात की गारंटी नहीं थी कि वो इस ट्रिप को ज़िंदा रहते हुए पूरा कर पाते. दूसरा रूट तिब्बत से होते हुए था, लेकिन चीन वहां से जाने की अनुमति नहीं देता.

बद्री एक स्टील एक्सपोर्टर और Chartered Accountant हैं और इस तरह की यात्राओं के शौक़ीन हैं. लगभग तीन दशक पहले भी वो मुंबई से बद्रीनाथ तक गाड़ी से पहुंचे थे.

बद्री ने हम सबको अनोखा ट्रैवेल गोल दे दिया है. इनके बारे में जानने के बाद आपके दिमाग में भी किसी ट्रिप के ख्याली पुलाव तो पक ही गये होंगे. तो सोचना छोड़िये और निकलने की तैयारियां शुरू कर दीजिए. बद्री ने जो किया उसकी हिम्मत तो कई युवा भी नहीं कर सकते.

Article Source : Thehindu