75 वर्षीय लक्ष्मीनारायण मुर्थी नामक एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई. लेकिन मृत्यु के लगभग एक दिन बाद घटना का पता चला है.

शुक्रवार को लक्ष्मीनारायण की मृत्यु की बात पुलिस को तब पता चली जब उनकी पत्नी और दो बेटियां अमेरिका से लौटे.

Source: Etemaad Daily

साई मारूति रेसिडेंसी के सबसे ऊपर वाले फ़्लैट में रहने वाले लक्ष्मीनारायण की मृत्यु 18 अगस्त को ही हो गई थी. आशंका लगाई जा रही है कि नहाकर निकलने के बाद उनका पांव एक छिपकली पर पड़ा और वो फ़िसलकर गिर गए. गिरने से उनके सिर पर चोट लगी और उनकी मृत्यु हो गई. घर से सभी दरवाज़े और खिड़कियां बंद होने के कारण पड़ोसियों को भी घटना के बारे में कुछ भी पता नहीं चला.

पुलिस ने बताया कि लक्ष्मीनारायण के पांव के पास एक मृत छिपकली मिली है. लक्ष्मीनारायण अपनी पत्नी और बेटियों के फ़ोन का जवाब भी नहीं दे रहे थे. उनके घरवालों को लगा कि लक्ष्मीनारायण उनसे नाराज़ हैं इसलिये फ़ोन नहीं उठा रहे हैं.

Source: NDTV

लेकिन जब 1 महीने बाद भी लक्ष्मीनारायण ने फ़ोन का जवाब नहीं दिया तो उनके घरवालों की चिंताएं बढ़ गई और वे लक्ष्मीनारायण को देखने हैदराबाद आ गए.

लक्ष्मीनारायण का फ़्लैट उनकी एक बेटी के नाम पर था. फ़्लैट में सेन्ट्रल लॉकिंग सिस्टम लगे होने के कारण ये पता करना मुश्किल था कि अंदर कोई है भी या नहीं.

Source: NDTV

लक्ष्मीनारायण के सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी थे और अपार्टमेंट के लोगों से उनकी कम ही जान-पहचान थी. लक्ष्मीनारायण से उनकी बेटियों ने अमेरिका जाने का आग्रह किया था लेकिन वो देश छोड़ने के इच्छुक नहीं थे.

कुछ दिनों पहले भी एक ऐसी घटना घटी थी, जहां एक बेटे को घर लौटने पर उसकी मां का कंकाल मिला था.

Source: NDTV