चुनाव आते ही 'चुनाव आयोग' सक्रिय हो जाता है. इसके पीछे की वजह चुनाव को पारदर्शी और निष्पक्ष बनाना है. अभी हाल ही में चुनाव आयोग दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ख़िलाफ़ FIR दर्ज करवाएगा. इसके पीछे की वजह अरविंद केजरीवाल का गोवा में दिया गया बयान था. चुनावी सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने चुनाव आयोग में रिश्वतखोरी की बात कही थी. इस बयान से आहत निर्वाचन आयोग ने केजरीवाल को कड़े शब्दों में लिखे एक पत्र के ज़रिए कहा कि आयोग के ख़िलाफ़ उनकी टिप्पणियां 'निराधार' और 'अत्याधिक अपमानजनक' हैं.

वर्तमान में गोवा में भाजपा की सरकार है. छोटा राज्य होने के कारण अरविंद केजरीवाल वहां आम आदमी पार्टी की सरकार चाहते हैं. इस वजह से वे काफ़ी मेहनत भी कर रहे हैं.

Source: Topyaps

निर्वाचन आयोग ने रिश्वतखोरी के लिए उकसाने को लेकर 20 जनवरी को केजरीवाल की निंदा की थी. आयोग ने सभी आरोपों को दरकिनार कर सख़्त हिदायत दी है कि अगर आम आदमी पार्टी के नेता ऐसी टिप्पणियां जारी रखते हैं, तो उनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएगी.

Source: Topyaps