ये बात बिलकुल सच है कि आप बिना SIM Card के भी आपातकालीन नंबर्स पर काल कर सकते हैं. बस इस बात का ध्यान रखें कि आप ऐसी किसी जगह पर ना हो जहां नेटवर्क ना आता हो. दुनिया भर में मोबाइल फोन के ज़रिये आपातकालीन नंबर मिलाए जाते हैं. बिना SIM Card के आपातकालीन नंबर्स पर कॉल लगाना एक तकनीकी सुविधा है जिसे हर मोबाइल प्रोवाइडर देता है. आप दूसरे प्रकार के कॉल इसलिए नहीं कर सकते, क्योंकि उन्हें प्रोवाइडर द्वारा ब्लॉक किया जाता है. लेकिन वे कुछ नंबर्स को ब्लॉक नहीं करते, जैसे आपातकालीन नंबर्स. इसमें दुनिया के सभी आपातकालीन नंबर्स शामिल हैं. इन आपातकालीन नंबर्स को आप कभी भी, कहीं भी रहकर मिला सकते हैं.

Source: ndtvimg

अगर भारत की बात करें तो यहां अलग-अलग राज्यों में 100, 101, 102 और 108 जैसे आपातकालीन नंबर काम कर रहे हैं. हालांकि सरकार एक ऐसे नंबर को आपातकालीन नंबर बनाने की सोच रही है, जिसे किसी भी समस्या के दौरान मिलाया जा सके. क्योंकि अलग-अलग सेवाओं के लिए अलग-अलग आपातकालीन नंबर होने से अचानक किसी संकट में फंसने पर संबंधित हेल्पलाइन नंबर याद न रह पाने की समस्या बनी रहती है. इसलिए भारत अमेरिका की तर्ज पर (अमेरिका में सभी आपात सेवाओं के लिए ‘911’ नंबर है) ऐसी हेल्पलाइन सेवा शुरू कर सकती है, जिस पर किसी भी समस्या के लिए कभी भी फोन किया जा सके. इस पर ट्राई (TRAI) ने कहा कि पुलिस, आग लगने और एंबुलेंस सहित सभी महत्वपूर्ण आपात सेवाओं के लिए देशभर में एकल हेल्पलाइन नंबर 112 शुरू की जा सकता है.

Source: wpxbox

फिलहाल भारत में आपातकालीन सेवाओं के लिए हेल्पलाइन के कई नंबर चल रहे हैं. यदि पुलिस से तत्काल सहायता लेनी हो, तो 100 नंबर, आग लग जाए तो फायरब्रिगेड बुलाने के लिए 101 नंबर, दुर्घटना हो जाने पर एंबुलेंस बुलाने के लिए 102 और 108 नंबर उपलब्ध हैं. इसी प्रकार हर समस्या के लिए अलग-अलग नंबर मौजूद हैं. आपको बता दें कि पहला आपातकालीन नंबर ब्रिटेन में शुरू हुआ. 1 जुलाई, 1937 को लंदन में 999 नंबर की सेवा शुरू की गई, जिस पर पूरे देश में कहीं से भी कॉल की जा सकती थी.

Source: mshcdn

इन सबसे इतर जो खास बात है आपातकालीन नंबर्स के साथ है वो ये कि मोबाइल भले ही लॉक हो, उसमें सिम हो या ना हो, अगर सिम है और वह बंद हो चुकी है तो भी आप अपने मोबाइल से आपातकालीन नंबर्स मिला सकते हैं. कभी सोचा है आखिर ऐसा क्यों होता है, हम बाकी नंबर्स पर कॉल नहीं कर सकते लेकिन इन इमरजेंसी नंबर्स पर कॉल कर सकते हैं?

इसलिए करते हैं SIM Card के बिना आपातकालीन नंबर्स काम

SIM Card कॉल करने के लिए ज़रूरी नहीं है, खासतौर पर आपातकालीन नंबर्स के लिए. दरअसल, सिम कार्ड हमारे मोबाइल के नंबर्स और उपभोक्ता से जुड़ी जानकारी जुटाने का काम करता है. पर जब बिना सिम कार्ड के आपातकालीन नंबर्स को मिलाया जाता है, तो उसे इस प्रकार की जानकारी जुटाने की जरूरत नहीं होती और आप आसानी से बिना सिम के इमरजेंसी नंबर मिला पाते हैं.

Source: mobilenumbertrackr, tracephonenumber, wikipedia