बॉलीवुड मतलब, Entertainment, Entertainment, Entertainment!

एक फ़िल्म को बनने में कई लोगों की मेहनत और समय लगता है. उसके बनने के बाद हर इंसान उससे आस लगाए रहता है. जब वही फ़िल्म अच्छी होने के बाद भी न चले, तो उसके पीछे मेहनत करने वालों को बहुत तकलीफ़ होती है. क्योंकि हर फ़िल्म की स्टोरी ख़राब हो ऐसा ज़रूरी नहीं है. इसी विंडबना की मारी हैं बॉलीवुड की कुछ फ़िल्में जिन्होंने दर्शकों का प्यार तो ख़ूब बटोरा लेकिन बॉक्स ऑफ़िस पर पैसा बटोरने में असफ़ल रहीं. जिनकी स्टोरी अच्छी होते हुए भी उन्हें फ़्लॉप फ़िल्मों में शामिल कर दिया गया, नहीं तो दोबारा रिलीज़ किया गया.

जान लीजिए कौन सी हैं वो फ़िल्में:

1. मेरा नाम जोकर

Sometimes, for whatever reason, films flop at the box office..
Source: hindifilmstyle

ये राज कपूर की सबसे बड़ी फ़िल्म थी. इसे बनाने में लगभग 6 साल लगे थे. एक जोकर के जीवन पर आधारित इस फ़िल्म से ऋषि कपूर ने बॉलीवुड डेब्यू किया था. इस फ़िल्म के न चलने की वजह इसकी समय से आगे की कहानी थी.

2. हंगामा

The comedy film, which has received much love from the audiences.
Source: deccanchronicle

भरपूर कॉमेडी और परेश रावल, शोमा आनंद, अक्षय खन्ना, आफ़ताब शिवदासानी और रिमी सेन जैसे कलाकारों से सजी फ़िल्म हंगामा ने लोगों को ख़ूब हंसाया. राजपाल यादव की कॉमेडी ने लोगों को लोटपोट कर दिया, लेकिन बॉक्स ऑफ़िस पर ये फ़िल्म ज़्यादा कमाल नहीं कर पाई.

3. शोले

The film starts off as a tribute to unquestionable friendship.
Source: wordbred

कितने आदमी थे? इस फ़िल्म के डायलॉग हों या जय-वीरू, ठाकुर-गब्बर और कालिया-सांभा की जोड़ी सबने दर्शकों के दिलों में कभी न मिटने वाली छाप बनाईं. मगर इसे ये सफ़लता पहली बार में नहीं, बल्कि दोबारा रिलीज़ होने पर मिली थी. इसे सलीम-जावेद की जोड़ी ने लिखा था.

4. नायक

The Real Hero proved to be a milestone.
Source: hindustantimes

एक राजनीतिक थ्रिलर फ़िल्म जो इस गंदी राजनीति में आम आदमी के उदय के बारे में है, जिसने भारतीय राजनीतिक थिएटर में वास्तविक प्रभाव डाला. इस फ़िल्म में एक्शन, ड्रामा और रोमांस सब था. इसके बावजूद बॉक्स ऑफ़िस पर धराशायी हो गई.

5. शान

Watch this fascinating full length cinema Shaan.
Source: rangooski

इस फ़िल्म की ख़ास बात थी शाकाल यानि कुलभूषण खरबंदा, जो एक आइकॉनिक विलेन बन चुके हैं. इसमें शशि कपूर और अमिताभ बच्चन भी थे. इसके बावजूद ये फ़िल्म कुछ ख़ास नहीं कर पाई थी.

6. लम्हे

Lamhe, a brilliant film by the late Yash Chopra.
Source: medium

इस फ़िल्म के फ़्लॉप होने का कारण इसकी कहानी में 1991 में एक कम उम्र की लड़की को एक बड़ी उम्र के लड़के से प्यार करना दिखाया गया. शायद यही बात लोगों को नहीं पची और फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर औंधे मुंह गिर गई. इसमें अनिल कपूर और श्रीदेवी की जोड़ी ने साथ काम किया था.

7. अग्निपथ

Amitabh Bachchan at 70 remains as charismatic as when he played Vijay.
Source: news18

विजय दीनानाथ की भारी आवाज़ में अमिताभ बच्चन का पर्दे पर आना और भारी भरकमडायलॉग बोलना, सबको याद है. मगर ये फ़िल्मबॉक्स ऑफ़िस पर उतना कमाल नहीं दिखा पाई थी. 2012 में इसका सीक्वेल आया था, जिसमें रितिक रौशन मुख्या भूमिका में थे.

8. क़ागज़ के फूल

A masterpiece that flopped.
Source: dailyvedas

गुरु दत्त की ये फ़िल्म फ़्लॉप फ़िल्म थी. इस फ़िल्म को भी अपनी कहानी की वजह से हार का मुंह देखना पड़ा था.

9. द बर्निंग ट्रेन

India's fastest passenger train.
Source: primevideo

इस फ़िल्म में काफ़ी बड़ी स्टारकास्ट थी. फ़िल्म निर्माताओं ने आग से शूट करने और फ़िल्म में विशेष प्रभाव डालने में क़ामयाबी हासिल की. इस फ़िल्म नेबॉक्स ऑफ़िस पर धूम मचाई फिर भी आज इसे क्लासिक बॉलीवुड मूवी ही माना जाता है.

10. अंदाज़ अपना अपना

this super comedy declared a flop.
Source: youtube

मेरा नाम है क्राइम मास्टर, आंखे निकालकर गोटियां खेलूंगा... ये फ़ेमस डायलॉग इसी फ़िल्म का है. जिसने कॉमेडी को नई परिभाषा दी. इसमें सलमान ख़ान, आमिर ख़ान, रवीना टंडन, करिश्मा कपूर और शक्ति कपूर मुख्य भूमिका में थे. इतनी बड़ी स्टारकास्ट के बावजूद इस फ़िल्म के नाम के साथ आजतक सुपरहिट नहीं लग पाया.

11. उमराव जान

Veteran music composer Khayyam revisits Umrao Jaan.
Source: rediff

इस फ़िल्म में रेखा ने निस्संदेह, अनुग्रह, शायरी और सुंदरता के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए थे. ऐतिहासिक सेटिंग, वेशभूषा, कलाकारों की टुकड़ी द्वारा अद्भुत प्रदर्शन, अच्छी स्टोरी लाइन और फ़िल्म का दिल तोड़ने वाला अंत, लगभग सब कुछ इस फ़िल्म में एकदम सही था. अफ़सोस की बात है कि फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर ज़्यादा नहीं चल सकी. फिर भी, इसने चार राष्ट्रीय पुरस्कार जीते.

12. सिलसिला

SILSILA is a love story, thwarted by society's demands.
Source: justwatch

अमिताभ बच्चन, जया बच्चन और रेखा के बीच लव ट्रायंगल पर आधारित इस फ़िल्म को ख़ूबसूरत स्थानों पर फ़िल्माया गया था और इसके गाने भी बहुत अच्छे ते. फिर भी, ये फ़िल्म दर्शकों के दिलों में अपने लिए जगह बनाने में नाकाम रही.

13. रॉकेट सिंह

When a fresh graduate, Harpreet Singh, is ridiculed by his boss.
Source: amazon

इस फ़िल्म में रणबीर कपूर पहली बार सरदार बनकर आए थे. फ़िल्म की कहानी सेल्स फ़ील्ड पर आधारित थी. रणबीर ने इसमें काफ़ी अच्छा अभिनय किया था. इनके अलावा फ़िल्म में गौहर ख़ान भी थीं. फ़िल्म के लिए रणबीर ने फ़िल्मफ़ेयर भी जीता था.

14. लक्ष्य

Lakshya is that one movie that inspires so many youngesters.
Source: mythgyaan

इसमें ऋतिक और प्रीति दोनों ने सराहनीय प्रदर्शन किया और निर्देशक फ़रहान अख़्तर का नज़रिया पूरी तरह से सही था. इसके बावजूद ये फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर नहीं टिक पाई थी.

15. ओय लकी लकी ओय

this was nice movie.
Source: youtube

अभय देओल, ऋचा चड्ढा और परेश रावल जैसे बड़े कलाकार होने के बावजूद फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर कुछ ख़ास नहीं कर पाई थी.

16. प्यार का पंचनामा

A small budget film nobody knew about released.
Source: mensxp

ये बॉलीवुड की पहली ऐसी फ़िल्म थी, जिसमें आज के युवाओं और उनके प्रेम को पूरी तरह से दर्शाया गया था. इसे युवाओं ने ख़ूब सराहा, लेकिन फ़िल्म पहले बॉक्स ऑफ़िस पर सराहना हासिल नहीं कर पाई.

17. दिल से!

The movie portrays the different shades of love.
Source: india

इस फ़िल्म में आतंकवाद और प्रेम को दर्शाया गया था. फ़िल्म के गानों को लोगों ने ख़ूब पसंद किया. इन गानों को संगीत ए.आर. रहमान ने दिया था. फ़िल्म शाहरुख़ क़ान और मनीषा कोईराला मुख्य भूमिका में थे.

18. स्वदेस

Source: ndtv

इसमें शाहरुख़ ख़ान और गायत्री जोशी मुख्य भूमिका में थीं. फ़िल्म की स्टोरी बहुत अच्छी थी. इसके फ़्लॉप होने का कारण इसकी साधारणता थी.

19. सोचा न था

this was abhay deol debue movie.
Source: youtube

सोचा ना था, अभय देओल की पहली फ़िल्म थी, जिसमें आयशा टाकिया और अपूर्व झा ने भी अभिनय किया था. ये इम्तियाज़ अली की बतौर निर्देशक पहली फ़िल्म भी थी. अभय देओल के चाचा धर्मेन्द्र ने इसके निर्माता थे. ये फ़िल्म एक रोमैंटिक ड्रामा थी, लेकिन बड़े पर्दे पर कुछ कमाल नहीं कर पाई.

20. उड़ान

Seventeen-year-old Rohan is expelled from the school.
Source: youtube

उड़ान एक ऐसे लड़के की कहानी है, जिसे स्कूल से निकाल दिया जाता है. फिर कैसे वो अपने पापा से इस बात को लेकर डांट खाता है. ये उस पिता-पुत्र की कहानी थी. इस फ़िल्म ने बॉक्स ऑफ़िस पर कुछ ज़्यादा कमाल नहीं किया था.

ये फ़िल्में बॉक्स ऑफ़िस पर भले ही न चलीं, लेकिन दर्शकों के दिलों में जगह बनाने में क़ामयाब रही हैं. Entertainment से जुड़े और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए क्लिक करें.