2000s Horror Hindi Films : भूतिया मूवीज़ (Horror Films) का कंटेंट चाहे जितना भी दमदार हो, पर जब तक उसमें तगड़े VFX देखकर आपकी रूह तक के रोंगटे खड़े हो जाएं, तब तक मज़ा नहीं आता. हॉरर जैसे जॉनर में हमेशा एक तरीक़े का रिस्क जुड़ा रहता है. 2000s में तो बॉलीवुड फ़िल्मों की VFX स्किल्स ने उतनी तरक्की भी नहीं की थी, लेकिन फिर भी ऐसी कई फ़िल्में थीं, जिसे आधी रात में देखकर हमें नानी याद आ गई थीं. 

आइए आपको 2000s में आई कुछ ऐसी ही हिंदी भूतिया फ़िल्मों के बारे में बता देते हैं, जिनको देखकर डर के मारे एक पल के लिए हमारे शरीर से आत्मा भी निकल कर भाग गई थी.

1. फूंक

साल 2008 में आई इस मूवी में छोटे बच्चे दिखाए गए हैं, जो इसके प्लॉट को और भी भूतिया बना देते हैं. ये फ़िल्म काला जादू पर आधारित है, जो मूवी में एक समय पर रियल लगने लगता है. इसके साथ ही ‘कुछ कुछ होता है‘ की फेमस चाइल्ड एक्ट्रेस एहसास चन्ना ने इस मूवी में काफ़ी बढ़िया काम किया था.

imdb

ये भी पढ़ें: 8 हॉरर शोज़ जिन्हें देखने के बाद 90s के बच्चे न अकेले सो पाते थे, न ही बाथरूम जा पाते थे

2000s Horror Hindi Films

2. मकड़ी 

साल 2002 में आई शबाना आज़मी र श्वेता बसु प्रसाद स्टारर फ़िल्म ‘मकड़ी‘ को आज भी याद करो, तो रूह कांप जाती है. इसमें एक बच्ची मुन्नी की कहानी दिखाई गई है, जो अपनी जुड़वा बहन को एक शैतान चुड़ैल से छुड़ाने की कोशिश कर रही है. क्या किसी को ये बात पता है कि ये मूवी विशाल भारद्वाज की ब्रेन चाइल्ड है?

oddnaari

3. डरना मना है 

ये मूवी एक दिलचस्प फॉर्मेट पर बनाई गई है, जिसने हम सभी को अंत तक स्क्रीन से चिपकाए रखा था. इसमें एक जंगल में भटका हुआ एक दोस्तों का गैंग एक-दूसरे को कई भूतिया कहानियां सुनाता है. इसमें हर एक कहानी कुछ नया पहलू लाती है. किसको फ़ेमस नाना पाटेकर-विवेक ओबेरॉय वाला प्लॉट याद है?

4. भूत 

इस मूवी में हर एक चीज़ जो एक हॉरर फ़िल्म में होनी चाहिए- तंत्र मंत्र, मर्डर से लेकर सब कुछ. इसके साथ ही स्टोरी काफ़ी बंधी हुई थी, इसके कॉन्सेप्ट में जगह-जगह कमी नहीं थी, जो इसे और रिफ्रेशिंग बनाती है. आजकल राम गोपाल वर्मा ऐसी मूवीज़ क्यूं नहीं बनाते?

indiatoday

5. राज़

बिपाशा बसु ने कई सारी हॉरर मूवीज़ में काम किया है, लेकिन 2002 में आई ये मूवी सबसे डरावनी थी. ऊटी के बैकग्राउंड पर आधारित इस मूवी में गहरे इफ़ेक्ट डालने के लिए घने जंगल के शॉट्स और काफ़ी सारे धुंए का प्रयोग किया गया है.

ndtv

ये भी पढ़ें: बॉलीवुड की ये 10 हॉरर फ़िल्में देख कर बोलोगे कि ये डरने के लिए नहीं, बल्कि हंसने के लिए बनी थीं

6. वास्तु शास्त्र

इस मूवी ने एक टाइम पर हमें ये यकीन दिला दिया था कि पेड़ भी भूतिया हो सकता है. सुष्मिता सेन स्टारर वास्तु शास्त्र फ़िल्म ने हमें वास्तव में कई रातों तक सोने नहीं दिया था. 

7. भूल भुलैया

जब मूवी का मेन भूत फ़िल्म से भी ज़्यादा सक्सेसफ़ुल हो जाए, तब आप मान सकते हैं कि वो मूवी सुपर सफ़ल हो चुकी है. मूवी का क़िरदार मंजूलिका भले ही दूसरी फ़िल्मों के मामले में डार्क और ताक़तवर क़िरदार ना रही हो, लेकिन जिस तरह से उसने इस मूवी में डराया, उससे हम सभी की हवा टाइट हो गई थी. इस कैरेक्टर में विद्या बालन ने क़माल कर दिया था.

2000s Horror Hindi Films
indiatoday

इन मूवीज़ को देखकर रूह कांप उठी थी.