'मिर्ज़ापुर' और मंटो से रसिका दुग्गल ने दो किस्म के दर्शकों को साध लिया. इसके पहले भी रसिका फ़िल्म, टीवी और वेब सीरीज़ में सक्रीय थी, लेकिन नोटिस कम की जा रही थीं. अब हाल ऐसा है कि सबको मिर्ज़ापुर 2 का बेसब्री से इंतज़ार है.

साल 1985 में जन्म हुआ झारखंड के जमशेदपुर शहर में. ग्रेजुएशन करने दिल्ली आ गई, लेडी श्री राम कॉलेज फ़ॉर वीमेन से गणित में डिग्री मिली. अगला पड़ाव था FTII, यहां एक्टिंग की पढ़ाई हुई और आगे ज़िंदगी किस दिशा में जाएगी, वो तय हुआ.

Source: Lifestyle Asia

2007 में पहली बार 'अनवर' में रसिका पर्दे पर दिखी, ये एक कैरेक्टर रोल था. उसी साल No Smoking भी रिलीज़ हुई, दोबारा कैरेक्टर रोल. अगले दो तीन सालों तक कुछ फ़िल्मों में छोटे-छोटे रोल मिले. Hijack, Tahaan, अज्ञात और Thanks Maa में आप रसिका को देख सकते हैं.

Source: Hindustan Times

2011 में फ़िल्म रिलीज़ हुई क्षय, इसमें रसिका मुख्य किरदार में थी, लोगों ने काम देखा और उनके भीतर संभावनाएं देखीं. हालांकि फ़िल्म बेहद कम लोगों ने देखी. इस बीच वो टीवी की दुनिया में भी कदम रख चुकी थीं और Powder, Rishta.com और किस्मत आदि ये कुछ नाम हैं, जिनमें रसिका मौजूद थीं.

Source: Sabakuch.com

साल 2015 उनके लिए ख़ास रहा, अच्छे ख़ासे समय से इंडस्ट्री में मौजूद रसिका अपने लोगों के बीच भी एक बड़ी पहचान नहीं बना सकी थीं. इस साल उनकी 'क़िस्सा' रिलीज़ हुई, सह-कलाकार थे इरफ़ान ख़ान. इस फ़िल्म को फ़ेस्टिवल और विदेशी दर्शकों को ध्यान में रख कर ही बनाया गया था. इसलिए बॉक्स ऑफ़िस पर दिखी भी नहीं लेकिन रसिका का बड़ा नाम हुआ. इसी फ़िल्म की एक्टिंग देख कर नंदिता दास ने उन्हें बिना ऑडिशन के 'मंटो' दे दी.

Source: Scroll.in

TVF की वेब सीरिज़ Humorously Yours में रसिका दुग्गल कमिडियन विपुल गोयल के साथ थी. इस शो में रसिका ने वो किया जिसे अभिनता सबसे मुश्किल काम मानते हैं, लोगों को हंसाना.

Source: Charmboard

यहां रसिका की साल 2017 में रिलीज़ हुई शॉर्ट फ़िल्म 'चटनी' का ज़िक्र करना भी ज़रूरी है. इस छोटी फ़िल्म ने रसिका की छवि बदलने में बड़ा योगदान दिया. अब तक रसिका नेगेटिव रोल में नहीं दिखी थी.

मिर्ज़ापुर में रसिका के किरदार का नाम बीना त्रिपाठी था, लेकिन मीम की दुनिया में वो 'शेरनी' के नाम से जानी जाती हैं. ऐसा क्यों है, उसके लिए आपको पूरा मिर्ज़ापुर और कुछ मीम्स देखने होंगे.

Source: NDTV Gadgets

आखिर में आता है 'हामिद' और 'दिल्ली क्राइम' का नाम, जिसने रसिका को इंडस्ट्री में एक हस्ताक्षर के रूप में स्थापित कर दिया है. हामिद की कहानी कश्मीर की कहानी है, वो एक पत्नी बनी हैं जिसका पति लापता है और दिल्ली क्राइम में एक ट्रेनी IPS ऑफ़िसर, जो व्यवस्था को बदलने के जज़्बे के साथ पुलिस फ़ोर्स जॉइन करती है और 'दिल्ली रेप केस' की छानबीन के दौरान उसका सामना धीरे-धीरे सच्चाई से होता है.

रसिका दुग्गल जिन मुश्किल च्वाइसेज़ और अगल तरह की सिनेमा को सबके सामने पहुंचाती हैं, वो राह कठिन है और अच्छे-अच्छे कलाकारों को तोड़ देती है. कुछ ये टाइम निकाल लेते हैं और निरंतर मेहनत करते हैं, रसिका उन्हीं में से एक हैं. रसिका को तरह-तरह के किरदारों और शेड्स में देखने का बेसब्री से इंतज़ार रहेगा.